Tokyo Olympics: मैरी कॉम और मनप्रीत सिंह उद्घाटन समारोह में भारत के ध्वजवाहक होंगे

नई दिल्ली। (भाषा) छह बार की विश्व चैम्पियन और लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम और पुरूष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह 23 जुलाई से तोक्यो में शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों के उद्घाटन समारोह में भारतीय ध्वजवाहक होंगे। इन खेलों में भारत की तरफ से पदक के सबसे बड़े दावेदारों में से एक पहलवान बजरंग पूनिया आठ अगस्त को समापन समारोह में भारतीय ध्वजवाहक की भूमिका निभाएंगे। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने इन खेलों की आयोजन समिति को अपने फैसले से अवगत करा दिया है। पहली बार ऐसा हुआ है जबकि ओलंपिक में भारत के दो ध्वजवाहक (एक पुरुष और एक महिला) होंगे।

आईओए प्रमुख नरिंदर बत्रा ने हाल में आगामी तोक्यो खेलों में ‘लैंगिक समानता’ को सुनिश्चित करने के लिए इस बात की जानकारी दी थी।मैरी कॉम ने भारतीय ध्वजवाहकों में से एक चुने जाने के बाद पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘यह मेरे लिए बहुत बड़ा पल होगा क्योंकि यह मेरा आखिरी ओलंपिक है। मेरे लिये यह भावनात्मक पल हो सकता है।’’उन्होने कहा, ‘‘उद्घाटन समारोह के दौरान दल की अगुवाई करने का अवसर पाकर मैं वास्तव में सम्मानित महसूस कर रही हूं और मेरा चयन करने के लिए मैं खेल मंत्रालय और आईओए को धन्यवाद देती हूं। यह मेरे लिए प्रेरणा होगी। मैं पदक के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ करने का वादा करती हूं।’’रियो डी जनेरियो में 2016 खेलों के उद्घाटन समारोह में देश के एकमात्र व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा ध्वजवाहक थे।हॉकी इंडिया से जारी विज्ञप्ति में मनप्रीत ने कहा, ‘‘यह शानदार है और मेरे पास इसकी खुशी बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं।

मुझे लगता है कि दिग्गज मैरी कॉम के साथ उद्घाटन समारोह के लिए ध्वजवाहक नामित किया जाना बड़ा सम्मान है।’’उन्होंने कहा, ‘‘ मैं मुक्केबाजी में उनके सफर से हमेशा प्रेरित हुआ हूं। व्यक्तिगत रूप से यह मेरे करियर का एक बड़ा पल है । हॉकी के लिए भी यह एक बहुत बड़ा पल है।’’हॉकी टीम के कप्तान कहा, ‘‘ मैं इस शानदार अवसर के लिए भारतीय ओलंपिक संघ को धन्यवाद देता हूं, और मैं तोक्यो में उद्घाटन समारोह में अपनी जिम्मेदारी निभाने का इंतजार कर रहा हूं।’’कोविड-19 महामारी के कारण एक साल के लिए स्थगित हुए तोक्यो ओलंपिक में 100 से अधिक भारतीय खिलाड़ी भाग लेंगे। अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने पिछले साल कार्यकारी बोर्ड की बैठक में उद्घाटन समारोह में महिला और पुरुष ध्वजवाहकों के लिए प्रावधान किया था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password