manoj bajpayee: पिता करते हैं खेती किसानी, कभी दिल्ली जाने के लिए पैसे तक नहीं थे, आज बॉलीवुड में करते हैं राज

manoj bajpayee

नई दिल्ली। अपने अभिनय के दम पर बॉलीवुड में राज करने वाले मनोज बाजपेयी (Manoj Bajpai) आज अपना 52वां जन्मदिन मना रहे हैं। बिहार के एक छोटे से गांव से निकल कर कामयाबी के शीर्ष तक पहुंचना उनके लिए आसान नहीं था। जहां सिनेमा का कोई स न जाने वहां से कड़ी मेहनत करके बॉलीवुड (Bollywood) में नाम बनाना कोई खेल थोड़ी ना है। मनोज बाजपेयी के अब तक के करियर को देखें तो उनसे जुड़ी कई खास बातें हैं जो सभी को जानना चाहिए।

बचपन से ही फिल्मों का शौक था

मनोज बाजपेयी का जन्म पश्चिम चंपारण के बेलवा बहुअरी गांव में हुआ था। उनकी शुरूआती पढ़ाई भी यही हुई है। इसके बाद आगे की पढ़ाई जिला मुख्यालय बेतिया के एक स्कूल में हुई। मनोज का नामकरण भी मशहूर अभिनेता मनोज कुमार के नाम पर हुआ था। उन्हें बचपन से ही फिल्मों का शौक था। एक बार मनोज ने अमिताभ बच्‍चन की ब्‍लॉक बस्‍टर फिल्‍म ‘जंजीर’ को देखा। इसके बाद उन्‍होंने फैसला कर लिया कि वे अभिनेता ही बनेंगे। हालांकि उनके लिए अभिनेता बनना इतना आसान नहीं था। क्योंकि उनके पिता एक छोटे किसान थे। जबकि मां हाउस वाइफ। जब उन्होंने अपने घर में एक्टर बनने की बात कही थी, तब पड़ोसियों और उनके रिश्तेदारों ने उनका मजाक बनाया था।

दिल्ली आने के लिए उनके पास पैसे तक नहीं थे

बतादें कि कॉलेज की पढ़ाई के लिए मनोज दिल्ली आए थे। लेकिन दिल्ली आने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे। ऐसे में उन्होंने बिहार से दिल्ली तक बिना टिकट ही सफर तय किया था। दिल्ली आने के बाद, उन्होंने अभिनय सीखने के लिए नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (National School of Drama) में दाखिला लेने की कोशिश शुरू कर दी। लेकिन इसमें वे तीन बार फेल हुए। हालांकि इस दौरान वे लगातार थिएटर करते रहे और अंत में NSD में मनोज को चौथे प्रयास में इंट्री मिली, लेकिन प्रशिक्षु के तौर पर नहीं, बल्कि प्रशिक्षक के तौर पर।

मनोज ने अपने करियर में कई हिट फिल्में की हैं

रील लाइफ में उनकी इंट्री ‘दूरदर्शन’ पर प्रसारित होने वाले धारावाहिक ‘स्‍वाभिमान’ के साथ हुई। इसके बाद बड़े पर्दे पर उन्हें पहला मौका दस्यु सुंदरी फूलन देवी के जीवन पर बनी फिल्म ‘बैंडिट क्‍वीन’ में मिला। इस फिल्‍म में उन्‍होंने फूलन के सहयोगी डाकू का रोल किया। मनोज बाजपेयी ने अपने करियर में कई हिट फिल्में की हैं और इस सपने को पूरा करने के लिए वह 17 साल की उम्र में दिल्ली आ गए थे। फिल्म ‘बैंडिट क्वीन’ में उनका रोल बहुत छोटा जरूर था, लेकिन लोग उन्हें यहीं से पहचानने लगे। इसके बाद तो उन्होंने ‘सत्या’, ‘शूल’ और गैंग्स ऑफ वासेपुर जैसी फिल्मों में अपनी परफोर्मेंस से सबको चौंका दिया।

फिल्‍म अभिनेत्री शबाना रजा से हुई है शादी

मनोज ने अभिनेत्री शबाना रजा से शादी की है। 1998 में मनोज और शबाना करीब आए थे। दोनों ने आठ साल तक एक-दूसरे को डेट किया। लेकिन इसकी खबर किसी को नहीं लगी। आखिरकार दोनों ने साल 2006 में शादी कर ली। शबाना और मनोज की एक प्यारी से बेटी भी है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password