Mann Ki Baat: मन की बात कार्यक्रम में बोले PM- जो भी ग्लोबल बेस्ट है, वो हम भारत में बनाकर दिखाएं, कश्मीरी केसर की भी तारीफ

Image Source: [email protected]DDNews

Mann Ki Baat: नए कृषि कानूनों को लेकर जारी किसान आंदोलन (Farmers Protest) के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ (Radio programme Mann Ki Baat) के जरिए देशवासियों को संबोधित किया। यह साल 2020 का आखिरी मन की बात कार्यक्रम है।

मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, चार दिन बाद नया साल शुरू होने वाला है। अगली मन की बात अगले साल होगी। आप हर साल नए साल पर रिज़्योल्यूशन लेते हैं, इस बार एक रिज़्योल्यूशन अपने ​देश के लिए भी जरूर लेना है। ‘Vocal For Local’ पर जोर देते हुए पीएम ने कहा, जो भी ग्लोबल बेस्ट है, वो हम भारत में बनाकर दिखाएं।

देश में नया सामर्थ्य भी पैदा हुआ
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, कोरोना के कारण दुनिया में सप्लाई चेन को लेकर अनेक बाधाएं आईं, लेकिन हमने हर संकट से नए सबक लिए। देश में नया सामर्थ्य भी पैदा हुआ। अगर शब्दों में कहना है तो इस सामर्थ्य का नाम है ‘आत्मनिर्भरता’। मैं देश के निर्माताओं और उद्योग जगत के नेताओं से आग्रह करता हूं, देश के लोगों ने मजबूत कदम आगे बढ़ाया, Vocal For Local आज घर-घर में गूंज रहा है. ऐसे में अब यह सुनिश्चित करने का समय है कि हमारे उत्पाद विश्वस्तरीय हों।

मन की बात में पीएम ने कहा…

  • मैं देशवासियों से आग्रह करूंगा कि आप भी एक सूची बनायें। दिन भर हम जो चीजें काम में लेते हैं, उन सभी चीजों की विवेचना करें और ये देखें कि अनजाने में कौन सी विदेश में बनी चीजों ने हमारे जीवन में प्रवेश कर लिया है।
  • भारत में 2014 से 2018 के बीच तेंदुओं की संख्या में 60% से अधिक की बढ़ोतरी हुई है. 2014 में देश में तेंदुओं की संख्या लगभग 7,900 थी, जो 2019 में बढ़कर 12,852 हो गयी। देश के अधिकतर राज्यों, विशेषकर मध्य भारत में तेंदुओं की संख्या बढ़ी है। तेंदुए की सबसे अधिक आबादी वाले राज्यों में मध्य प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र सबसे ऊपर हैं। पिछले कुछ सालों में, भारत में शेरों की आबादी बढ़ी है, बाघों की संख्या में भी वृद्धि हुई है, साथ ही, भारतीय वनक्षेत्र में भी इजाफा हुआ है। इसकी वजह ये है कि सरकार ही नहीं बल्कि बहुत से लोग, civil society, कई संस्थाएं भी, हमारे पेड़-पौधों और वन्यजीवों के संरक्षण में जुटी हुई हैं।

  • मैं भारत के युवाओं को देखता हूं तो, खुद को आनंदित और आश्वस्त महसूस करता हूं। वो इसलिए क्योंकि मेरे देश के युवाओं में ‘Can Do’ की Approach है और ‘Will Do’ की Spirit है। उनके लिए कोई भी चुनौती बड़ी नहीं है।
  • पीएम मोदी ने कहा, हम दिन भर जो चीजें काम में लेते हैं उन सभी चीजों की विवेचना करें और ये देखें कि अनजाने में कौन-सी विदेश में बनी चीजों ने हमारे जीवन में प्रवेश कर लिया है। इनके भारत में बने विकल्पों का पता करें और ये तय करें कि हम आगे से भारत में बने उत्पादों का इस्तेमाल करेंगे।

Mann Ki Baat: मन की बात में बोले पीएम मोदी- कृषि कानूनों से किसानों को नए अधिकार और अवसर मिले

  • वोकल फॉर लोकल ये आज घर-घर में गूंज रहा है ऐसे में अब यह सुनिश्चित करने का समय है कि हमारे उत्पाद विश्ववस्तरीय हों। जो भी ग्लोबल बेस्ट है, वो हम भारत में बनाकर दिखाएं। इसके लिए हमारे उद्यामी साथियों को आगे आना है। स्टार्टअप को भी आगे आना है।
  • आज के ही दिन गुरु गोविंद जी के पुत्रों, साहिबजादे जोरावर सिंह और फतेह सिंह को दीवार में जिंदा चुनवा दिया गया था। अत्याचारी चाहते थे कि साहिबजादे अपनी आस्था छोड़ दें, महान गुरु परंपरा की सीख छोड़ दें। लेकिन हमारे साहिबजादों ने इतनी कम उम्र में भी गजब का साहस दिखाया। आज ही के दिन गुरु गोविंद सिंह जी की माता जी- माता गुजरी ने भी शहादत दी थी। लोग गुरु गोविंद सिंह जी के परिवार के लोगों के द्वारा दी गयी शहादत को बड़ी भावपूर्ण अवस्था में याद करते हैं। इस शहादत ने संपूर्ण मानवता को, देश को, नई सीख दी।

बता दें कि, मासिक रेडियो कार्यक्रम मन की बात का यह 72वां संस्करण है, जबकि मन की बात 2.0 का यह 19वां संस्करण (19th edition of Mann Ki Baat 2.0) है। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने 29 नवंबर और इससे पहले 25 अक्टूबर को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिए लोगों को संबोधित किया था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password