पुलवामा हमने में शहीद हुए मेजर विभूति ढ़ौंडियाल की पत्नी 29 को सेना में बनेंगी लेफ्टिनेंट, पढ़े उनकी प्रेरक कहानी

nikita vibhuti dhoundiyal

नई दिल्ली। पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल को कल सच्ची श्रद्धांजलि मिलने वाली है। 29 मई को उनकी पत्नी निकिता ढौंडियाल भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट की भूमिका संभालने जा रही है। मालूम हो कि 17 फरवरी 2019 को आतंकी हमले में तीन जवान शहीद हो गए थे। उन्हीं में से एक 55 आरआर में पोस्टेड 35 वर्षीय विभूत शंकर ढौंडियाल भी शामिल थे।

सैल्यूट कर पति को दी थी अंतिम विदाई

आपको बतादें कि जब विभूति का शव तिरंगे में लपेटकर देहरादून लाया गया था। तब अंतिम दर्शन में उनकी पत्नी निकिता ने सैल्यूट कर अपने पति को अंतिम विदाई दी थी और तभी पति के नक्शे कदम पर चलते हुए निकिता ने सेना में सेवा करने का मन बना लिया था। निकिता ने कहा था कि मैं अपने पति के अधूरे काम को पूरा करना चाहती हूं तभी उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि मिलेगी।

29 मई को पास आउट करेंगी निकिता

गौरतलब है कि इलाहाबाद से परीक्षा पास करने के बाद वो पिछले साल से ही चेन्नई स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी में ट्रेनिंग ले रही थीं। अब निकिता की ट्रेनिंग तकरीबन पूरी होने के बाद वह अफसर के तौर पर सेना का हिस्सा बनने जा रही हैं। 29 मई को निकिता ट्रेनिंग से पास आउट होंगी। पासिंग आउट कार्यक्रम में उनके पिता शामिल होंगे।

निकिता पर पूरे देश को गर्व है

मेजर विभूति शंकर और निकिता की मुलाकात तब हुई थी जब विभूति एमबीए कर रहे थे। लेकिन दोनों की शादी के नौ महीने बाद ही विभूति शहीद हो गए। पति के अंतिम विदाई में निकिता ने उनके कानो में आई लव यू कहा था और उनकी यादों और शब्दों से प्रेरित होकर नोएडा बेस्ड मल्टीनेशनल कंपनी का जॉब छोड़कर सेना में जाने का मन बना लिया। और अब निकिता ने वो कर दिखाया है, जिससे मेजर विभूति ही नहीं पूरे देशवासियों को उनपर गर्व है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password