Eknath Shinde New CM: महाराष्ट्र राजनीति में बड़ा उलटफेर, फडणवीस नहीं एकनाथ शिंदे होगे नए सीएम

Eknath Shinde New CM: महाराष्ट्र राजनीति में बड़ा उलटफेर, फडणवीस नहीं एकनाथ शिंदे होगे नए सीएम

Maharashtra Political Crisis : महाराष्ट्र की सियासत में उलटफेर सामने आया है जहां पर भाजपा ने नई सरकार बनाते हुए बागी नेता और मंत्री एकनाथ शिंदे ( Eknath Shinde) को मुख्यमंत्री बनाया है। भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने एकनाथ शिंदे के साथ एक संयुक्त प्रेस वार्ता में घोषणा की कि एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे। शपथ समारोह आज शाम 7.30 बजे होगा। बता दे कि,  आज गोवा से बागी नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) मुंबई पहुंच गए है जहां पर उन्होंने पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) से मुलाकात की थी।

रात  7.30 बजे होगा शपथ ग्रहण

आपको बताते चलें कि, बताते चलें कि, बगावत के 10 दिन बाद बागी गुट के नेता एकनाथ शिंदे मुंबई पहुंचे है जहां पर खबर है कि, आज रात 8 बजे ही नई सरकार का शपथ ग्रहण हो सकता है। बताया जा रहा है कि, फडणवीस और शिंदे एक साथ राजभवन के लिए निकल चुके हैं। राज्यपाल के सामने आज ही सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। एकनाथ शिंदे डिप्टी CM बनाए जांएगे। बता दें कि, वे अपने दावे को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर सकते है। वहीं पर इधर महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं और विधायकों ने आज मुंबई के मातोश्री में शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे से मुलाकात की। उन्होंने कल राज्य के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

 

इन्हें कर सकते है कैबिनेट में शामिल

बता दें कि, साफ है कि, मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस होंगे जबकि एकनाथ शिंदे को डिप्टी सीएम का पद दिया जाएगा. सभी नौ बर्खास्त मंत्रियों को फिर से मंत्री बनाया जाएगा. 6 कैबिनेट और 6 राज्यमंत्री बनाए जाएंगे। जिनकी सूची इस प्रकार है।

 

शिंदे गुट से अन्य सम्भावित मंत्री– 1.दीपक केसरकर, 2-दादा भूसे. 3-अब्दुल सत्तार, 4-बच्चू काड़ू. 5-संजय शिरदाट, 6-संदीपन भूमरे, 7-उदय सामंत, 8-शंभुराज देसाई, 9-गुलाब राव पाटिल, 10-राजेंद्र पाटिल, 11-प्रकाश अबिदकर.

देवेंद्र फडणवीस ने कही बात

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस,मुंबई ने कहा कि, 2019 में BJP और शिवसेना साथ में चुनाव लड़ी। पीएम मोदी जी के नेतृत्व में हमें पूर्ण बहुमत मिला। पीएम जी ने चुनाव के दौरान BJP के मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा की और वो नाम सबको मंजूर भी था ,लेकिन चुनाव के बाद शिवसेना के नेताओं ने निर्णय किया कि बालासाहेब ठाकरे जी ने जिन विचारों का जीवन भर विरोध किया ऐसे लोगों के साथ उन्होंने गठबंधन किया।

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password