महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने 1996 में माइकल जैक्सन के शो की कर माफी को बरकरार रखा

मुंबई, छह जनवरी (भाषा) महाराष्ट्र मंत्रिमंडल ने बुधवार को दो दशक से भी पहले 1996 में यहां हुए माइकल जैक्सन के संगीत कंसर्ट को मनोरंजन कर में दी गई छूट के फैसले को बरकरार रखा है।

मुख्यमंत्री कार्यालय के मुताबिक, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया।

मुंबई में “किंग ऑफ पॉप” के इस कंसर्ट की परिकल्पना शिव उद्योग सेना ने की थी जिसका नेतृत्व तब राज ठाकरे किया करते थे। इस शो के आयोजन के लिए एक निजी आयोजन प्रबंधन कंपनी ने मदद की थी।

राज ठाकरे अब महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष हैं।

महाराष्ट्र में 1996 में शिवसेना- भाजपा सरकार सत्ता में थी और कंसर्ट के आयोजन के वक्त मनोहर जोशी मुख्यमंत्री थे।

शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार ने यद्यपि 1996 में कंसर्ट को मनोरंजन कर से छूट दे दी थी लेकिन बंबई उच्च न्यायालय की एक खंडपीठ ने पुराने आदेश को दरकिनार करते हुए सरकार के पास इस मामले को पुनर्विचार के लिये भेजा था।

मंत्रिमंडल ने अब इस कंसर्ट के लिये दी गई मनोरंजन कर की छूट के फैसले को बरकरार रखा है।

इससे आयोजन का प्रबंधन करने वाली ‘विजक्राफ्ट इंटरनेशनल’ को शो के आयोजन से प्राप्त रकम फिर से हासिल हो जाएगी जो उच्च न्यायालय के आदेश के बाद से अदालत के कोषागार में जमा है।

उपभोक्ताओं के अधिकार से जुड़े संगठन ‘मुंबई ग्राहक पंचायत’ ने मनोरंजन कर में छूट को चुनौती देते हुए 1996 में उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी।

उच्च न्यायालय ने 2011 में सरकार ने छूट पर पुनर्विचार करने को कहा था लेकिन अब तक इस पर कोई फैसला नहीं हुआ था।

भाषा

प्रशांत पवनेश

पवनेश

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password