Mahakal Mandir Corridor : बदल गई बाबा महाकाल की उज्जैन नगरी, देखे भव्य सुंदरता का वीडियो

Mahakal Mandir Corridor : बदल गई बाबा महाकाल की उज्जैन नगरी, देखे भव्य सुंदरता का वीडियो

Mahakal Mandir Corridor : अयोध्या में राम मंदिर निर्माण और काशी में विश्वनाथ कॉरिडोर बनाने के बाद अब केंद्र सरकार मध्यप्रदेश में स्थित बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन (Mahakal Mandir Corridor) का कायाकल्प कर रही है। बाबा महाकाल की नगरी (Mahakal Mandir Corridor)  का 752 करोड़ रूपये की लागत से भव्य रूप दिया जा रहा है। जल्द ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसका लोकार्पण करने वाले है। इसके लिए पीएम मोदी 15 व 16 जून को उज्जैन पहुंचेंगे। पीएम मोदी को उज्जैन आने का आमंत्रण मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिया है।

कुछ इस तरह किया जा रहा निर्माण

बाबा महाकाल (Mahakal Mandir Corridor)  के आंगन को काशी विश्वनाथ में बने मंदिर व अयोध्या में बन रहे मंदिर की तरह रूप दिया जा रहा है। इसके लिए लगभग आधे से ज्यादा काम हो चुका है। बाबा महाकाल के मंदिर परिसर (Mahakal Mandir Corridor)  को 10 गुना बढ़ा दिया गया है। मंदिर के आस पास 500 मीटर व सामने 70 मीटर क्षेत्र में विकास कार्य होगा। इस प्रोजेक्ट को करीब 750 करोड़ की लागत से तैयार किया जा रहा है जिसमें से करबी 422 करोड़ रूपये प्रदेश सरकार खर्च करेगी तो वही 21 करोड़ रूपये मंदिर समिति वहन करेगी। अभी फिलहाल महाकाम मंदिर का परिसर (Mahakal Mandir Corridor)  2 हेक्टेयर का है। कॉरिडोर बनने के बाद यह 20 हेक्टेयर का हो जाएगा। कॉरिडोर (Mahakal Mandir Corridor)  में फेसिलिटी सेंटर, सरफेस पार्किंग, महाकाल द्वार का निर्माण कराया जा रहा है। महाकाल कॉरिडोर प्रोजेक्ट (Mahakal Mandir Corridor)  के तहत रुद्रसागर तरफ 920 मीटर लंबा कॉरिडार, महाकाल मंदिर प्रवेश द्वार, दुकाने और कॉरिडोर (Mahakal Mandir Corridor) में मूर्तियां लगाई जाएंगी। महाकाल कॉरिडोर का निर्माण कार्य गुजरात की एक फर्म कर रही है। महाकाल कॉरिडोर (Mahakal Mandir Corridor) का आकार काशी में बने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर से करीब 3 गुना बड़ा बनाया जा रहा है।

एक नजर में कॉरिडोर (Mahakal Mandir Corridor) 

मंदिर के आसपास से सभी भवन हटाए जा रहे हैं। श्रद्धालु दूर से ही शिखर दर्शन कर सकेंगे। रुद्रसागर के किनारे दो नए द्वार नंदी द्वार व पिनाकी द्वार के मध्य विकसित किए जा रहे है। यात्री संकुल में 20 हजार से ज्यादा यात्रियों का आवागमन हो सकेगा। नंदी द्वार से 900 मीटर लंबा दर्शन कॉरिडोर बनाया गया है। 400 से ज्यादा वाहनों के पार्किंग क्षेत्र, धर्मशाला व अन्नक्षेत्र परिसर से यात्री सीधे नंदी द्वार में प्रवेश करेंगे। पौराणिक रुद्रसागर में साफ पानी भरने का बंदोबस्त किया गया है। इसके किनारे एक घाट भी बनाया जा रहा है। जहां से यात्री बैठ कर रुद्रसागर के नजारे देख सकेंगे। इंदौर से आने वाले श्रद्धालुओं को महाकालेश्वर प्लाजा में सुविधाएं मिलेंगी। महाकाल रुद्रसागर के पुनरुद्धार के साथ स्मॉर्ट पार्किंग बनेगी। 750 वाहन हो सकेंगे पार्क

मंत्री सारंग ने शेयर किया वीडियो

मध्यप्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री कैलाश विश्वास सारंग ने अपने ट्वीटर अकाउंट्स पर महाकाल कॉरिडोर (Mahakal Mandir Corridor)  का एक वीडियो शेयर किया है। वीडियो में आपक देख सकते है कि कैसे महाकाल की नगरी उज्जैन का कायाकल्प किया जा रहा है। वीडिया रात के समय का है और रात में कॉरिडोर (Mahakal Mandir Corridor)  पर लाइटिंग की गई है। रात की लाइट में कॉरिडोर काफी मनोरम और भव्य दिखाई दे रहा है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password