विधानसभा चुनाव 2023 से पहले कमलनाथ के 38 विधायकों को खतरा!

MP Assembly Election 2023 : मध्यप्रदेश में अगले साल 2023 में विधानसभा (MP Assembly Election 2023) के चुनाव होेने है। चुनाव से पहले कांग्रेस के कमलनाथ ऐसी कोई गलती नहीं करना चाहते है जो उनके पॉलिटिकल मेनेजमेंट पर सवाल उठाए। कमलनाथ ने चुनाव से पहले ही मिशन 2023 (MP Assembly Election 2023) की शुरूआत कर दी है। लेकिन मीडिया की खबरों की माने तो कमलनाथ के लिए 2023 (MP Assembly Election 2023) की राह आसान नहीं है। कमलनाथ के करीब 38 मौजूदा विधायकों को चुनाव से पहले खतरे की घंटी बजी है।

दरअसल, कमलनाथ विधानसभा चुनाव (MP Assembly Election 2023) से पहले अपने विधायकों का सर्वे (Kamal Nath mla survey) करवा रहे है। कमलनाथ के इस सर्वे में 96 विधायकों में से 38 ऐसे विधायक है जो अपने क्षेत्रों में काफी कमजोर है। सर्वे (Kamal Nath mla survey) से इन विधयाकों की लोकप्रियता और सक्रियता को टटोला गया है। कमलनाथ ने ऐसे विधायको को कड़ी चेतावनी जारी कर दी है। कमलनाथ ने इन विधायकों को साफ तौर पर कहा है कि वह अपने विधानसभा क्षेत्रों में अपनी सक्रियता बढ़ाए, जनता के बीच संवाद करें, उनसे मेल मिलाप करें।

काटा जा सकता है 38 विधायकों का टिकट?

खबरों के अनुसार सर्वे में 38 सुस्त विधायको की लोकप्रियता और सक्रियता कम होने के चलते पार्टी 2023 के चुनावों में टिकट काट सकती है। हालांकि चुनाव होने में अभी डेढ़ साल का समय है। इसलिए कमलनाथ सभी विधायकों को अपनी स्थिति सुधारने की चेतावनी जारी की है। कमलनाथ सर्वे (Kamal Nath mla survey) कराने की बात पहले ही सार्वजनिक कर चुके है। कमलनाथ निजी कंपनियों की मदद से सर्वे (Kamal Nath mla survey) कराते है और सर्वे के परिणाम के आधार पर ही टिकट तय करते है। यह सर्वे कमलनाथ की ओर से ही कराए जा रहे है। पार्टी की ओर से ऐसी कोई व्यवस्था नहीं दी गई है।

कैसे होता है सर्वे

सर्वे कंपनियां कांग्रेस विधायकों के क्षेत्र में जाकर आम आदमी से जानकारी जुटाती है। सर्वे (Kamal Nath mla survey) में आम जनता से पूछा जाता है कि उनके विधायक ने उनके साथ कितना समय दिया। विधायक शहर के गली मौहल्लों में आते है कि नहीं, गांवों का दौरा करते है कि नहीं, उनका लोगों से मेल-मिलाप होता है या नहीं? सर्वे (Kamal Nath mla survey) में देखा जाता है कि क्षेत्र की जनता का झुकाव मौजूदा विधायक की ओर है कि नहीं। कुल मिलकार सर्वे में विधायक की पूरी गतिविधियों का रिपोर्ट कार्ड तैयार किया जाता है। सर्वे (Kamal Nath mla survey) करने वाली कंपनी कार्यकर्ता से लेकर बूथ स्तर तक संपर्क करती है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password