Lockdown : लगने लगा लॉकडाउन, खचाखच भरे अस्पताल, लाैटी कोरोना की लहर?

Lockdown : दुनिया में एक बार फिर कोरोना महामारी ने दस्तक देना शुरू कर दिया है। इसके संकेत चीन से आ रहीं खबरों से मिलने लगे है। चीन में कोरोना का संक्रमण एक बार फिर लोगों पर हावी हुआ है। चीन में दो साल बाद कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आए है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चीन के दो शहरों में लॉकडाउन लगा दिया गया है। तो वही यूरोपीय देशों में हालात बेकाबू हो गए है। हालात ये है कि अस्पताल खचाखच भरने लगे है।

कोरोना की चौथी लहर की शुरूआत!

स्क्रिप्स रिसर्च ट्रांसलेशनल इंस्टीट्यूट के संस्थापक ने एक ट्वीट करते हुए कहा है कि यूरोप में कोरोना की अगली लहर शुरू हो गई है। कोरोना के नए मामले कोरोना की नई लहर की ओर इशारा कर रही है। पिछले कुछ दिनों पहले आयरलैंड, यूके, इटली जैसे देशों में कोरोना के चलते अस्पतालों में मरीजों की संख्या में इजाफा देखा गया था। दरअसल, यूरोप के कई देशों में कोरोना के नियमों में छूट दे दी गई थी, जिसके बाद से कोरोना के मामलों में एकदम तेजी आई है। वही अमेरिका में भी ऐसा ही हुआ हैं। ऐसे में ये जल्दबाजी दुनियाभर में भारी पड़ सकती है।

चीन में लॉकडाउन की शुरूआत

चीन में बीते रविवार को 3 हजार से अधिक मामले सामने आए थे। जिसके चलते कोरोना हॉटस्पॉट वाली जगाहों पर लॉकडाउन जैसे हालात पैदा हो गए है। चीन में हालात इतने बेकाबू है कि दो शहरों में तो लॉकडाउन लगा दिया गया है। यानी दुनियाभर में जिस देश पर कोरोना वायरस फैलाने का आरोप लगा था। आज वही देश कोरोना की मार झेल रहा है। खबरों के अनुसार चीन ने शेन्झेन प्रांत में लॉकडाउन लगा दिया गया है।

भारत में कोरोना की स्थिति

भारत में फिलहाल कोरोना के मामले काफी हद तक कम हुए है। लेकिन कोरोना के मामले लगातार सामने आ रहे है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2,503 नए मामले सामने आए है। जबकि 27 लोगों की मौत हो चुकी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने एक बयान में कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर से लोगों ने थोड़ी राहत मिली है। देश में तीसरी लहर का असर कम हुआ है, लेकिन एक अध्‍ययन में पता चला है कि ओमिक्रोन के बाद अब एक नया वेरिएंट उभर रहा है. जो डेल्टा और ओमिक्रोन से मिलाजुला हो सकता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password