जू लाए गए मां से बिछड़े तेंदुए ,जंगल का माहौल देकर सिखाएंगे शिकार

INDORE ZOO: जू लाए गए मां से बिछड़े तेंदुए ,जंगल का माहौल देकर सिखाएंगे शिकार

INDORE ZOO: इंदौर के कमला नेहरू जू में रेसक्यू  किए गए तेंदुए के बच्चों को  लाया गया हैं. इनके आने से मानो वहां रौनक बढ़ गई हैं. इनके गुर्राने की आवाज दिनभर गूंजती रहती है और येलोग काफी मस्ती करते रहते हैं. इन्हें पहले धार वन रेंज के ताना गांव मे लाया गया फिर वहां से इंदौर जू भेजा गया जहां इनकी अच्छे से देखभाल की जा रही हैं. अब उन्हें जंगल का माहौल देकर शिकार करना सिखाया जाएगा.

जू कर्मचारियों का कहना है कि पहले यह बच्चे खुदसे दूध तक नहीं पी पा रहे थे लेकिन अब येलोग खाना देखते ही खुश हो जाते हैं और खुद पी भी लेते हैं. दोनों ही फीडिंग के लिए खुद ही आवाज लगाने लगते हैं. दूध की बॉटल देख कर दोनों उठकर एक्टिव हो जाते हैं और मस्ती करना शुरू कर देते हैं.

पारूलेकर ने बताया कि जब यह लोग यहां आए थे तो काफी कमजोर थे, लेकिन अब इनका वजन लगभग 200 किलो बढ़ चुका हैं. एक शावक 280 ग्राम और दूसरा शावक 310 ग्राम का था. लेकिन पिछले तीन दिन में अब एक शावक 520 ग्राम और दूसरा शावक 560 ग्राम का हो गया है.

जू अधिकारियों का कहना है कि तेंदुए के बच्चों को 2 से 3 महीने तक सिर्फ दूध  पिलाया जाएगा.  3 महीने  बाद उनके खान-पान  में बदलाव किया जाएगा. 3  महीने बाद  मीट और कीमा खिलाना शुरू किया जाएगा. बच्चें सिर्फ 10 दिन के हैं, इसलिए उन्हें 8 से 9 महिनें तक जू में रखा जाएगा. इस दौरान उन्हें चिड़ियाघर में ही जंगल का माहौल देने के साथ ही शिकार करना सिखाया जाएगा. 4 माह बाद शिकार करना शुरू करेंगे.

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password