Leopard Population: भारत में चार साल में 60% बढ़ी तेंदुओं की आबादी, मध्य प्रदेश फिर बना ‘तेंदुआ स्टेट’, देखिए पूरी रिपोर्ट

Image Source: [email protected] News

Leopard in India Report: भारत में लगातार जंगली जानवरों की संख्या में बढ़ोत्तरी होती दिख रही है। बाघों के बाद देश में अब तेंदुओं की आबादी बढ़ गई है। पिछले चार साल के दौरान देश में तेंदुओं की आबादी में 60 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। जबकि पूरे भारत में सबसे ज्यादा तेंदुए मध्य प्रदेश में पाए गए हैं। जिसके बाद मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) टाइगर स्टेट के साथ ही अब तेंदुआ स्टेट (Leopard State of India) भी बन गया है।

मध्य प्रदेश के दोबारा तेंदुआ स्टेट बनने पर सीएम शिवराज ने ट्वीट कर खुशी जताते हुए कहा, ‘वन्य प्राणियों के संरक्षण के लिए हमारी सरकार ने अनेक बड़े कदम उठाए हैं जिनके सकारात्मक परिणाम हमें मिल रहे हैं। वाइल्ड लाइफ इन्स्टीट्यूशन की रिपोर्ट के अनुसार भारत में सबसे ज़्यादा तेंदुए हमारे प्रदेश में हैं। इनकी संख्या 3,421 है। मैं इस अनूठी उपलब्धि के लिए मध्यप्रदेश वन विभाग और वन्य जीव संरक्षण से जुड़े सभी लोगों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं। ‘Tiger State of India’ बनने के बाद अब मध्यप्रदेश ‘Leopard State of India’ बन गया है।’

दरअसल केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने सोमवार को ‘स्टेटस ऑफ़ लेपर्ड्स इन इंडिया 2018’ रिपोर्ट (Status of Leopard in India 2018 report) जारी की है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में अब तेंदुओं की संख्या 12,852 हो गई है। इनमें से सबसे अधिक 3,421 तेंदुए मध्य प्रदेश (Leoard Population in Madhya Pradesh) में पाए गए हैं। 1,783 तेंदुओं की संख्या के साथ कर्नाटक (Karnataka) दूसरे नंबर पर है, जबकि महाराष्ट्र (Maharashtra) में 1,690 तेंदुए पाए गए हैं।

मध्य भारत और पूर्वी घाटों में तेंदुओं की संख्या सर्वाधिक 8,071 है। इस क्षेत्र में मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, ओडिशा, छत्तीसगढ़, झारखंड, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश हैं। पश्चिमी घाट क्षेत्र जिसमें कर्नाटक, तमिलनाडु, गोवा और केरल के क्षेत्र शामिल हैं वहां 3,387 तेंदुए हैं। शिवालिक और गंगा के मैदानी इलाके जिनमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और बिहार के क्षेत्र हैं उनमें 1,253 तेंदुए पाए गए हैं। पूर्वोत्तर के पहाड़ी क्षेत्र में सिर्फ 141 तेंदुए पाए गए।

2014 की रिपोर्ट में तेंदुओं की स्थिति
बता दें कि, 2014 में देश में कुल 7,910 तेंदुए थे। चार साल में इनकी संख्या में 60 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है। तेंदुओं के मामले में मध्य प्रदेश को लगातार दूसरी बार ये खिताब हासिल हुआ है। देश में 2014 में पहली बार तेंदुओं को गणना में शामिल किया गया था। उस दौरान जो रिपोर्ट सामने आई थी, उसमें भी मध्य प्रदेश तेंदुआ स्टेट बना था। उस समय प्रदेश में सबसे अधिक 1817 तेंदुए पाए गए थे, जबकि कर्नाटक 1129 तेंदुओं के साथ दूसरे पायदान पर था।

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password