विधान मंडल लोकतंत्र का मन्दिर और आस्था का केन्द्र : आदित्यनाथ

लखनऊ, 19 जनवरी (भाषा) उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद के सभापति रमेश यादव और मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मंगलवार को विधान परिषद के सौंदर्यीकरण कार्यों का लोकार्पण एवं चित्र वीथिका के उद्घाटन के साथ ही परिषद के वर्तमान सदस्‍यों की पट्टिका का अनावरण भी किया।

इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री आदित्‍यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य है और सर्वाधिक सदस्य संख्या के साथ उत्तर प्रदेश का विधान मंडल देश का सबसे बड़ा विधान मंडल है। उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद का इतिहास अत्‍यंत गौरवशाली है।

उन्होंने कहा, ‘‘विधान मंडल लोकतंत्र का मन्दिर व आस्था का केन्द्र है। राज्य के इस उच्च सदन में सौन्दर्यीकरण के लिए किये गये कार्य सराहनीय हैं।’’

आदित्यनाथ ने कहा कि इस विधान परिषद से महामना पंडित मदन मोहन मालवीय, पूर्व मुख्यमंत्री पंडित गोविंद बल्लभ पंत, पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्‍टर सम्पूर्णानन्द, सर तेज बहादुर सप्रू, प्रख्यात कवयित्री महादेवी वर्मा का जुड़ाव रहा है। विधान परिषद की प्रथम बैठक थॉर्न हिल मेमोरियल हॉल, प्रयागराज में हुई थी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विधान परिषद में चित्र वीथिका से सबको प्रेरणा मिलेगी। सावरकर के बारे में आदित्यनाथ ने कहा, ‘‘सावरकर जी का व्यक्तित्व प्रत्येक भारतवासी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। सावरकर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के साथ-साथ एक बहुत बड़े दार्शनिक, लेखक, कवि भी थे।’’

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा चार फरवरी, 2021 से चार फरवरी, 2022 तक चौरी चौरा के शताब्दी वर्ष के दौरान विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, विधान परिषद सदस्य व भारतीय जनता पार्टी के अध्‍यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह समेत अन्य सदस्य उपस्थित थे।

भाषा आनन्‍द प्रशांत आशीष

आशीष

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password