कोरोना की चौथी लहर भारत में कब आएगी और कितनी खतरनाक होगी, जानिए

दुनिया में कोरोना के मामले लगातार सामने आते रहें है। हालांकि भारत में कोरोना के मामलों में कमी आई है। लेकिन ब्रिटेन, दक्षिण कोरिया और यूरोप के कई देशों में कोरोना के मामले तेजी से आने लगे है। जिसके बाद से भारत में कोरोना की तीसरी लहर के आने की आंशका जताई जाने लगी है। फिलहाल भारत में रोजाना 3 हजार से कम मामले सामने आ रहें है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र सरकार के तकनीकी सलाहकार और स्वास्थ्य महानिदेशक डॉक्टर सुभाष सालुंखे ने कहा है कि ‘हम सावधानी कम नहीं कर सकते, क्योंकि जैसा बाकी दुनिया में हो रहा है, भारत में चौथी लहर आनी है।’ उन्होंने कहा, ‘चौथी लहर के बारे में जो एक चीज नहीं जानते कि यह कब आएगी और कितनी खतरनाक होगी।’

नवंबर 2021 में दक्षिण अफ्रीका में पहली बार पाए गए ओमिक्रॉन वेरिएंट ने दुनिया भर में मुश्किलें खड़ी कर दी थी। हालांकि, कुछ समय बाद ही यह साफ हो गया था कि इस वेरिएंट के चलते मरीजों की मौतों की संख्या में खास इजाफा नहीं हुआ था। जानकारों का कहना है कि ऐसे टीकाकरण के चलते हुआ।

महाराष्ट्र सरकार के कोविड-19 टास्क फोर्स का हिस्सा रहे डॉक्टर शशांक जोशी मुंबई की स्थिति को लेकर बताते हैं, ‘जीनोम सीक्वेंसिंग के चलते हमें एहसास हुआ कि यहां तीसरी लहर की शुरुआत में ही ओमिक्रॉन के वेरिएंट BA1 और BA2 मौजूद हैं।’ उन्होंने कहा कि भारत में नई लहर का फिलहाल कोई खतरा नहीं है। उन्होंने जानकारी दी, ‘BA2 भारत में रहा है। इजरायल के नए वेरिएंट को वेरिएंट ऑफ कंसर्न नहीं माना गया है, तो जब तक नया VoC सामने नहीं आता, यहां चिंता करने की कोई बात नहीं है। हालांकि, हमें मास्क पहनना बंद नहीं करना चाहिए।’ वैज्ञानिकों का मानना है कि एंटीबॉडीज के कम होते ही SARS-CoV-2 वायरस लोगों को दोबारा संक्रमित कर सकता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password