जानिए कितना खतरनाक है कोरोना का XE वैरिएंट

जानिए कितना खतरनाक है कोरोना का XE वैरिएंट, NTAGI के चैयरमैन अरोड़ा का बड़ा बयान चर्चा में

Corona XE Variant: वैश्विक महामारी कोरोना का असर जहां कम होने लगा था वही पर एक बार फिर कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के XE वैरिएंट की एंट्री हुई है जहां पर यह कितना खतरनाक है और इसका क्या असर आगे होगा इसे लेकर टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (NTAGI) के चेयरमैन एनके अरोड़ा ने अहम जानकारी दी है।

चैयरमैन ने जानें क्या कहा

आपको बताते चलें कि, कोरोना वायरस ओमिक्रॉन के XE वैरिएंट को लेकर  NTAGI के चेयरमैन एनके अरोड़ा ने कहा कि, “ओमीक्रोन कई नए रूप को जन्म दे रहा है यह X सीरीज की तरह है जैसे XE है। घबराने की कोई बात नहीं है,इनमें से कोई भी गंभीर बीमारी पैदा नहीं कर रहा है या फिलहाल कोरोना के भारतीय आंकड़ों के अनुसार यह बहुत तेजी से फैलता हुई नहीं दिख रहा।” साथ ही बताया कि, एक्सई वैरिएंट ओमिक्रॉन वैरिएंट के उपभेदों का एक उत्परिवर्तन (म्यूटेशन ऑफ स्ट्रेन) है, जो दुनिया भर में फैला हुआ है। इसके बारे में पहली बार 19 जनवरी को यूके में पता चला था और तब से सैकड़ों रिपोर्ट और पुष्टि की जा चुकी है।

 

जानें क्या कहता है WHO

इस XE वैरिएंट कोरोना को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी जानकारी दी है जिसमें बताया कि, नया म्यूटेंट XE एक तरह से ओमिक्रॉन के बीए.2 सब-वैरिएंट की तुलना में लगभग 10 प्रतिशत अधिक ट्रांसमिसिबल (तेजी से फैलने वाला) है। हालांकि दुनिया भर में एक्सई के फिलहाल कम ही मामले देखने को मिले हैं। वहीं पर इसे आने वाले समय में ज्यादा प्रभावशाली बताया है। बताते चलें कि, इस वैरिएंट के मामले महाराष्ट्र और गुजरात में अब तक सामने आ चुके है।

 

 

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password