किस्से-कहानियां : जब सिरफिरे दोस्त ने नसीरुद्दीन शाह पर चाकू से कर दिया था हमला, ओमपुरी ने ऐसे बचाई थी जान

Naseeruddin

नई दिल्ली। माया नगरी में हम अक्सर दो बड़े अभिनेताओं के बीच तकरार के बारे में सुनते रहते हैं। लेकिन बॉलीवुड में दो एक्टर ऐेसे भी हैं, जिनकी दोस्ती के किस्से किसी मिसाल के कम नहीं है। हालांकि इनमें से एक एक्टर अब इस दुनिया में नहीं। हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार नसीरूद्दीन शाह (Naseeruddin Shah) और ओम पूरी (Om Puri) के बारे में। इनकी दोस्ती को आज भी अटूट माना जाता है।

बॉलीवुड में मशहुर हैं दोनों के किस्से

नसीर और ओम पूरी के किस्से बॉलीवुड में मशहूर हैं। दोनों एक दूसरे के जिगरी दोस्त थे। इनकी दोस्ती कॉलेज के दिनों से ही थी। कॉलेज की ये दोस्ती बॉलीवुड में पैर जमान के बाद और ज्यादा मजबूत होती गई। नसीरूद्दीन शाह ने साल 2014 में अपनी किताब ‘And Then One Day: A Memoir’ में अपने साथ हुए एक हादसे का जिक्र करते हुए बताया था कि कैसे ओम पूरी ने उनकी रक्षा की थी।

बेस्ट फ्रेंड ने नसीरुद्दीन पर किया हमला

ये बात साल 1977 की है। बॉलीवुड के मशहुर निर्देशक श्याम बेनेगल ‘भूमिका’ फिल्म की शूटिंग कर रहे थे। स्मिता पाटिल-अमोल पालेकर स्टारर इस फिल्म में ओम पुरी और नसीरुद्दीन शाह भी साथ में थे। एक दिन शूटिंग खत्म करने के बाद दोनों सेट के ही पास के एक ढाबे पर खाना खाने गए। तभी ओम पुरी ने देखा कि उनके साथ पढ़ने वाला उनका बेस्ट फ्रेंड जसपाल, तेजी से उनकी ओर आ रहा है। ओम पुरी कुछ समझ पाते उससे पहले ही जसपाल ने धारदार हथियार से नसीरुद्दीन शाह पर वार कर दिया। जसपाल दूसरा वार करता उससे पहले ही ओम पुरी ने बिना देर किए जसपाल का हाथ पकड़ लिया और तब तक नहीं छोड़ा जब तक उसने हाथ से चाकू नहीं छोड़ा।

नसीर खून से लतपथ हो गए थे

पहले वार के कारण नसीर खून से लतपथ हो गए थे। इसके बाद ओम पूरी किसी तरह से नसीरूद्दीन शाह को ढाबे से बाहर लेकर आए और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने कुछ देर बाद जसपाल को गिरफ्तार कर लिया और इस तरह ओम पुरी ने अपनी जान पर खेलकर अपने दोस्त नसीरूद्दीन शाह की जान बचाई। नसीरुद्दीन शाह ने अपने किताब में लिखा कि, जसपाल को वो अपना जिगरी दोस्त समझते थे, लेकिन वो उनकी सफलता से जलने लगा था। इसी मनोदशा में उसने ये हरकत की थी।

दोनों की दोस्ती NSD से चली आ रही थी

नसीरूद्दीन ने उस घटना को याद करते हुए लिखा कि उस दिन ओम पुरी ने मुझे पुलिस की गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया था वो भी बिना किसी की अनुमति के। वो मेरे सच्चे दोस्त थे। मेरी जान बचाने के लिए वो कुछ भी कर सकते थे। मालूम हो कि ओम पुरी और नसीरुद्दीन शाह की दोस्ती National School of Drama (NSD) के समय से थी। NSD में 4 साल की पढ़ाई पूरी करने के बाद इन दोनों Film and Television Institute of India (FTII) पुणे में एक्टिंग की पढ़ाई की। इसके बाद सन 1976 में ये दोनों मुंबई शिफ्ट हो गए।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password