Kidney Stones : कहीं आपको तो नहीं किडनी की पथरी, इन लक्षणों से करें पता, रिस्क फैक्टर

Kidney Stones : कहीं आपको तो नहीं किडनी की पथरी, इन लक्षणों से करें पता, रिस्क फैक्टर

नई दिल्ली। आज कल जिस तरह एसिडिटी Kidney Stones की समस्या आम हो गई है उसी health care तरह जिसे देखो किडनी health news की समस्या होने लगी है। पर इस बीमारी health tips का दर्द सबसे बड़ी समस्या बनता है। जिसमें एक लहर की तरह दर्द सामने आता है। अगर ये छोटी हो तो कोई समस्या नहीं पर बड़ी होने पर इसके लिए ऑपरेशन के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता है। पर क्या आप जानते हैं इसके पीछे क्या कारण है। साथ ही इसका रिस्क फैक्टर क्या है। यदि नही तो चलिए जानते हैं कि इसके लक्षण और उपाय क्या हैं।

किडनी स्टोन के कारण –

अनुवांशिक हो सकती है बीमारी
अगर आपके परिवार में किसी को किडनी की समस्या हो तो इस बात की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है कि आपको किड़नी के स्टोन की समस्या हो जाए। आपको बात दें कई बार ये बीमारियां अनुवांशिक भी होती है। इतना ही नहीं यदि आपको पहले पथरी का स्टोन हो चुका है तो इस बात की संभावना कई हद तक बढ़ जाती है कि आपको और आगे भी पथरी हो जाए।

मोटापा है एक कारण –
कभी-कभी शरीर में अधिक मात्रा में फैट का जमा होना भी गुर्दे की किडनी का कारण बनती है। उच्च बीएमआई है तो आपको गुर्दे की पथरी का खतरा ज्यादा है। ऐसे में आपको सलाह दी जाती है कि अपना वजन नियंत्रित रखें।

डिहाईड्रेशन हो सकता है बड़ा कारण –
कई बार ऐसा होता है कि पानी की कमी से भी पथरी की समस्या घिर जाती है। शरीर में अगर सही मात्रा में पानी न मिले तो इस कंडीशन में भी गुर्दे की पथरी होने की संभावना होने के चांसेस बढ़ जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि दिन में 8 से 10 ग्लास पानी जरूर पिया जाए।

पाचन संबंधी बीमारियां और सर्जरी
यदि आपने कभी गैस्ट्रिक बाइपास सर्जरी, इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज और क्रोनिक डायरिया की वजह से आपकी पाचन प्रक्रिया में बदलाव हो सकता है। इस बदलाव की वजह से शरीर में कैल्शियम और पानी को एब्जॉर्ब करने की प्रक्रिया बाधित होगी और आपकी पेशाब में पथरी बनाने वाले पदार्थों की मात्रा बढ़ जाती है।

ये भोजन भी बढ़ा देता है स्टोन का खतरा –
विशेषज्ञों की मानें तो यदि आप भोजन में हाई प्रोटीन, ज्यादा नमक या चीनी का उपयोग करते हैं तो इस कंडीशन में भी गुर्दे की पथरी का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है। इसलिए जरूरी है कि आप बेलेंस डाइट का उपयोग करते हैं तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। अगर आप हाई सोडियम युक्त का भोजन उपयोग करते हैं तो सतर्क हो जाएं। ऐसा इसलिए क्योंकि ज्यादा सोडियम यानि नमक का उपयोग करने पर इसकी मात्रा किडनी में बढ़ती जाती है। जबकि हमारी किडनी सीमित मात्रा में कैल्शियम को फिल्टर करती है। यदि आप ज्यादा मात्रा में इसका उपयोग करते हैं तो आपको समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

दवाएं और सप्लीमेंट्स भी बन सकती हैं कारण –
आपको बता दें कई बार ऐसा होता है कि हम एसिडिटी, सिरदर्द आदि होने पर दवाइयां ले लेते हैं। पर क्या आप जानते हैं ये दर्द नाशक दवाइयां आपके शरीर में किडनी की समस्या पैदा कर सकती हैं। जैसे विटामिन सी, डायट्री सप्लीमेंट्स, लैक्सेटिव, कैल्शियम युक्त एंटासिड ;एसिडिटी की दवा और माइग्रेन व डिप्रेशन की दवा आदि के कारण भी किडनी स्टोन की समस्या बढ़ सकती है। इसलिए आपको सलाह है कि किसी भी दवा का सेवन सिर्फ अपने डॉक्टर की सलाह पर ही करें।

इन लक्षणों से समझे कहीं आपको भी तो नहीं किडनी का स्टोन –

  • अगर आपको अपने हाथों, बाजुओं और पसलियों के निचले हिस्से में दर्द महसूस हो।
  • पेट के निचले हिस्से या कमर में दर्द हो रहा हो।
  • इन जगहों पर दर्द एक सा न होकर शरीर में घूमता हुआ लहर की तरह आए।
  • दर्द कभी कम कभी ज्यादा हो।
  • पेशाब जाने में जलन और दर्द महसूस हो।
  • पेशाब में बदबू आए।
  • पेशाब में झाग दिखे।
  • पेशाब का रंग अधिक भूरा या लाल दिखे।
  • ऐसा महसूस हो कि पेशाब जाना है कि पेशाब की मात्रा कम हो।

Acidity Pain In Body : आप भी जान लें कहां-कहां हो सकता है गैस का दर्द? ताकि न हो कंफ्यूजन

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password