KANAD GAMBLING CASE:सट्टा चलाने का कह रही TI हुई ट्रैप, खुद के विभाग ने रंगे हाथों दबोचा

KANAD GAMBLING CASE

AGAR MALWA: आगर मालवा में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। मामले के मुताबिक टीआई खुद सट्टा खिलाने के लिए मजबूर कर रहीं थी।मामले में आवेदक रितेश राठोर निवासी कानड ज़िला आगर मालवा ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त उज्जैन अनिल विश्वकर्मा को आवेदन प्रस्तुत कर शिकायत की थी कि कानड़  थाना प्रभारी मुन्नी परिहार उस से दबाव बनाकर सट्टा चलाने का कह रही है ओर इस के लिए हर महीने 20 हज़ार रुपए रिश्वत की माँग कर रही है।जैसे ही यह मामला विभाग के सामने आया आवेदक की शिकायत पर कार्यवाही करते हुए DSP राजकुमार शराफ़ के नेतृत्व में टीम का का गठन कर ट्रैप आयोजित किया गया।KANAD GAMBLING CASE

मामला विस्तार से

लोकायुक्त उज्जैन की टीम में DSP सुनील तालान, TI राजेंद्र वर्मा आरक्षकगण संजय पटेल , सुनील परसाई , नीरज राठोर व इसरार द्वारा थाना कानड़ ज़िला आगर मालवा में आवेदक से 29 हज़ार रुपए की रिश्वत लेते हुए TI मुन्नी परिहार को रंगे हाथों पकड़ा गया है। सूत्र बता रहे हैं कि मोके पर अभी कार्रवाई जारी है।वहीं बातचीत के दौरान TI मुन्नी परिहार थाना प्रभारी कानड़ द्वारा आवेदक से पिछले महीने के बाक़ी 9 हज़ार ओर चालू महीने के बीस हज़ार रुपए के हिसाब से कुल 29 हज़ार की माँग की गयी थी। आवेदक के अनुसार उसको क़ोरोना लॉकडाउन में गल्ले के व्यापार में नुक़सान होने से उसने वर्ष 2021 में सट्टा चलाया था उसका TI मुन्नी परिहार हर महीने 20 हज़ार रुपए लेती थी। अब सट्टा नहीं खिलाना चाहता लेकिन TI मैडम दबाव बनाकर सट्टा चलवा रही हे ओर रिश्वत के रूप में हर महीने 20 हज़ार रुपए माँग रही हैं।KANAD GAMBLING CASE

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password