कमलनाथ की पुलिस अधिकारियों को चेतावनी, '3 तारीख के बाद 4 तारीख भी आएगी'



कमलनाथ की पुलिस अधिकारियों को चेतावनी, कहा- ‘3 तारीख के बाद 4 तारीख भी आएगी’

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) आज मुरैना जिले की दिमनी विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र सिंह तोमर (Congress candidate Ravindra Singh) के समर्थन में प्रचार करने गए थे। जनसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने कहा कि चंबल की इस माटी को प्रणाम , जिसने आजादी का संदेश दिया ,सालों बाद हमारा ग्वालियर-चंबल आजाद हुआ।

कमलनाथ ने बड़ा ही आश्चर्य हुआ कि शिवराज सिंह ग्वालियर-चंबल के विकास को लेकर मुझसे सवाल पूछ रहे है , 15 वर्ष प्रदेश में जिनकी सरकार रही , वह 15 माह की सरकार से जवाब मांग रहे हैं ? जवाब तो शिवराज को ख़ुद देना चाहिए , 15 साल आप मुख्यमंत्री रहे और ज्योतिरादित्य सिंधिया को जो यहां के वर्षों तक जनप्रतिनिधि रहे , मुझसे कौन सा जवाब आप मांग रहे हैं ? लेकिन चलो आपने पहली बार सच बोला ,सच्चाई स्वीकार करी कि ग्वालियर-चंबल में कोई विकास नहीं हुआ है।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आज सरकार के इशारे पर प्रशासन ने सभा में आने से लोगों को रोकने का काफ़ी प्रयास किया , खूब अवरोध खड़े किए लेकिन ऐतिहासिक जनसैलाब ने सभा में आकर मुझे व कांग्रेस को बल एवं शक्ति दी है। मै आपको बताना चाहता हूँ कि हमने ख़ाली खजाने से 27 लाख किसानों का क़र्ज़ा माफ किया।

चालू खाते का भी कर्ज माफ किया

उन्होंने कहा कि शिवराज ख़ूब झूठ बोलते रहे लेकिन आखिर में उनको विधानसभा में सच्चाई स्वीकार करना पड़ी।हम आपको वचन देते है कि हमारी सरकार आयी तो बाकी किसानों का भी 2 लाख तक का कर्ज हम माफ करेंगे।हमने इतिहास में पहली बार डिफाल्टर नहीं चालू खाते का भी कर्ज माफ किया है।

3 नवंबर के बाद तंबू-टेंट सब उखड़ जाएंगे

कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी रविंद्र तोमर के भाई भूपेंद्र तोमर को मैंने अभी मंच पर देखा। किस प्रकार से उनके ऊपर ज़ुल्म व अत्याचार किया गया। मैं बीजेपी का बिल्ला जेब में रखकर घूमने वाले अधिकारियों को चेतावनी देना चाहता हूं कि वे याद रखें तीन के बाद चार भी आएगी। यह चुनाव जनता का है ,जनता की आवाज को आप दबा नहीं सकते। 3 नवंबर के बाद तंबू-टेंट सब उखड़ जाएंगे लेकिन हमारा नौजवान यही रहेगा ,किसान यही रहेगा और आपके साथ कमलनाथ भी यही रहेगा

Share This

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password