Johnson and Johnson कंपनी का टीका गुणवत्ता जांच में हुआ फेल, 15 मिलियन डोज हुए बर्बाद

वाशिंगटन। (एपी) जॉनसन एंड जॉनसन (जेएंडजे) ने बताया है कि उसकी कोविड-19 वैक्सीन की एक खेप गुणवत्ता जांच में असफल रही है और ये इस्तेमाल करने योग्य नहीं है। दवा कंपनी ने यह नहीं बताया कि कितनी संख्या में खुराक खराब हुई हैं, और यह भी स्पष्ट नहीं है कि इससे भविष्य में आपूर्ति कितनी प्रभावित होगी। जेएडंजे ने बुधवार को कहा कि एमर्जेंट बायोसॉल्यूशंस द्वारा बनाई गई वैक्सीन सामग्री गुणवत्ता मानकों पर खरी नहीं उतरी। कंपनी ने हाल में मंजूरी प्राप्त अपनी वैक्सीन के विनिर्माण में तेजी लाने के लिए 10 कंपनियों के साथ करार किया है, और एमर्जेंट बायोसॉल्युशंस उनमें से एक है।

Company ने बताया जरूरी कदम

वहीं, यूएस FDA का कहना है कि वो स्थिति से अवगत है और फार्मा कंपनी के अनुसार यह एक आवश्यक कदम था, क्योंकि गुणवत्ता और सुरक्षा उसकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस बीच, जॉनसन एंड जॉनसन ने कोरोना वैक्सीन की निर्माण प्रक्रिया की देखरेख करने और आवश्यक समर्थन मुहैया कराने के लिए विशेषज्ञों की एक टीम को साइट पर भेजने का फैसला लिया है।

अमेरिका में आपात इस्तेमाल की दी थी मंजूरी

हाल ही में अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) ने भी जॉनसन एंड जॉनसन के कोरोना रोधी टीके के आपात इस्तेमाल को मंजूरी दी थी। यह तीसरा टीका है जिसे अमेरिका में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उपयोग किया जा रहा था। अमेरिकी सरकार ने इस टीके की 10 करोड़ डोज खरीदी थी। कंपनी ने मार्च के अंत तक दो करोड़ डोज उपलब्ध कराने का दावा किया था । पिछले वर्ष दिसंबर में अमेरिका ने फाइजर और मॉर्डना के टीकों को मंजूरी दी थी।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password