Joginder Sharma: उस भारतीय क्रिकेटर की कहानी, जो क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद लगातार अपने सरकारी काम में सक्रिय है

Joginder Sharma

नई दिल्ली। 2007 टी-20 विश्व कप में भारतीय क्रिकेट टीम के हीरो के रूप में उभरे पूर्व भारतीय गेंदबाज जोगिंदर शर्मा को शायद ही कोई भूल सकता है। T-20 विश्व कप के फाइनल की जब भी बात होती है तो उनका नाम मुंह पर आ ही जाता है। उन्होंने अपने क्रिकेट के इस छोटे से करियर में कुछ ऐसा किया है जिसे भारतीय प्रशंसक कभी भूल नहीं सकते हैं। 37 वर्षीय जोगिंदर ने 2007 के टी-20 विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ अंतिम ओवर फेंका था और टीम इंडिया को विश्व विजेता बनने में मदद की थी। उन्होंने मिस्बाह उल हक को श्रीसंत के हाथों कैच आउट कराके भारत को पहला टी-20 विश्व कप विजेता बनाया था। लेकिन क्या आप जानते हैं कि क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद जोगिंदर शर्मा इस समय क्या कर रहें हैं?

इस बारे में बहुत ही कम लोगों को मालूम होगा। ज्यादातर लोग कहेंगे कि जोगिंदर भी क्रिकेट से जुड़े कुछ काम कर रहे होंगे जैसे दूसरे क्रिकेटर रिटायरमेंट के बाद कमेंट्री करते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है जोगिंदर शर्मा इन सबसे अलग देश की सेवा कर रहें हैं। वे देश के एक जिम्मेदार पुलिस अधिकारी के रूप में अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं।

अतुल्य योगदान के एवज में सरकार नौकरी देती है

सरकार देश के कई खिलाड़ियों को उनके अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए नई जिम्मेदारी देती है। जोगिन्दर को भी हरियाणा सरकार ने उनके अच्छे प्रदर्शन को देखते हुए DSP के पद पर नियुक्त किया था। ठीक वैसे ही जैसे महेंद्र सिंह धोनी को भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल, सचिन तेंदुलकर को इंडियन एयर फ़ोर्स में कैप्टन, हरभजन सिंह को पंजाब पुलिस में डीसीपी। ऐसे और कई खिलाड़ी हैं जिन्हें सरकार देश के लिए अतुल्य योगदान देने के एवज में सरकारी नौकरी देती है।

हिसार में DSP के रूप में कार्यरत हैं

आमतौर पर हम देखते हैं कि ये खिलाड़ी नौकरी मिलने के बाद प्रतिकात्मक तौर पर अपनी सेवा देते हैं। लेकिन संभवत: जोगिंदर शर्मा इकलौते ऐसे क्रिकेटर हैं जो क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद लगातार हरियाणा पुलिस में डीएसपी के पद पर कार्यरत हैं। 2011 में एक भयानक कार दुर्घटना में शर्मा चोटिल हो गए थे। चोट से उबरने के बाद उन्होंने बहुत कोशिश की लेकिन वह टीम इंडिया में दोबारा वापसी नहीं कर पाए। हरियाणा सरकार ने उन्हें 2007 टी-20 वर्ल्ड कप की जीत में उनके योगदान को सम्मान देने के लिए 21 लाख नकद और हरियाणा पुलिस में DSP के पद पर नियुक्त किया था। ऐसे में उन्होंने क्रिकेट से सन्यास लेकर हरियाणा पुलिस में उपाधीक्षक के रूप में काम करने का फैसला किया। वर्तमान में जोगिंदर शर्मा हिसार के लॉ एंड ऑर्डर DSP के रूप में कार्यरत हैं।

ICC ने भी किया था सलाम

जोगिंदर हरियाणा पुलिस में फूल टाइम नौकरी कर रहे हैं। पिछले साल कोरोनावायरस महामारी के दौरान उनकी एक तस्वीर काफी वायरल हुई थी। जिसमें उन्हें वर्दी में वैश्विक स्वास्थ्य संकट के बीच काम करते हुए देखा गया था। ICC ने भी उनके इस तस्वीर को साझा करते हुए लिखा था, 2007 टी-20 वर्ल्ड कप के हीरो अपने क्रिकेट करियर के बाद, वैश्विक महामारी कोरोना में एक पुलिसकर्मी के रूप में रियल हीरो की भूमिका निभा रहे हैं।

जोगिंदर शर्मा का क्रिकेट करियर

जोगिंदर शर्मा ने साल 2001 में अपने क्रिकेट करियर की शुरूआत की थी। साल 2004 में वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आ गए थे। हालांकि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सिर्फ 4 वनडे और 4 टी-20 मैच ही खेला। इसमें से उनका सबसे यादगार मैच 2007 टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल था। जोगिंदर 2007 के बाद से ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं। वहीं 2017 में उन्होंने अपना आखिरी फर्स्ट क्लास और लिस्ट ए मैच खेला था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password