जानना जरूरी है: AC का वजन हजार किलो नहीं होता, फिर इसे टन में क्यों मापा जाता है

Air Conditioner

नई दिल्ली। गर्मी का पारा चढ़ते ही लोग AC की तरफ भागने लगते हैं। चाहे घर हो या दफ्तर हर जगह हमें एयर कंडीशनर की जरूरत महसूस होती है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि जब हम एसी खरीदने जाते हैं तो आपसे ये पूछा जाता है कि कितने टन का AC लेंगे? एक टन, डेढ़ टन या दो टन। इसका मतलब क्या होता है।

टन वजन मापने का मानक होता है

ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं। क्योंकि टन वजन मापने का मानक होता है। यानी 1 टन का मतलब करीब 907.18 किलोग्राम होता है। लेकिन वहीं अगर हम AC के मामले में टन को देखें तो इसके मायने बदल जाते हैं।

AC में टन का मतलब उससे मिलने वाली ठंडक से है

जब हमसे पूछा जाता है कि आप कितने टन का AC लेंगे, तो हमें लगता है जैसे दुकानदार वजन की बात कर रहा हो। लेकिन एसी में टन का मतलब उससे मिलने वाली ठंडक से होता है। यानी जिस AC को हम लेना चाहते हैं उसमें घर को ठंडा करने की कितनी उर्जा है, इसे हम TON में मापते हैं। AC जितना ज्यादा टन का होगा, वो उतने ही बड़े क्षेत्रफल को ठंडा करने की क्षमता रखता है।

आसान भाषा में समझें AC में टन का मतलब

अगर आपके कमरे में 1 टन का AC लगा है तो इसका मतलब है कि कमरे को 1 टन बर्फ जितनी ठंडक देगा, जबकि 2 टन का एसी दो टन बर्फ के बराबर कूलिंग करेगा। लेकिन इस साधारण से मतलब को हममें से कई लोग नहीं जानते हैं। खैर अगर आपका कमरा 10 बाय 10 यानी की 100 स्क्वायर फीट का है तो इसके लिए 1 टन का एसी पर्याप्त है। लेकिन अगर आपका कैमरा 10 बाय 10 से ज्यादा है तो इसके लिए कम से कम डेढ़ टन का AC लेना चाहिए। वहीं इससे बड़े कमरे के लिए 3 टन का एसी लेना ज्यादा फायेदमंद रहेगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password