Indore International Cargo Hub : इंदौर में आधुनिक अंतर्राष्ट्रीय कार्गो हब का लोकार्पण, एयरपोर्ट के लिए मिलेगी अतिरिक्त भूमि

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वर्तमान आवश्यकताओं के अनुरूप इंदौर एयरपोर्ट का विस्तार ज़रूरी है। इसका विस्तार सुनिश्चित किया जाएगा। इंदौर एयरपोर्ट अथॉरिटी को 22 एकड़ ज़मीन दी जाएगी।

 

बेटियों के पांव पखारे और कन्याओं के पैर पूजे
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मध्य प्रदेश, देश में भविष्य का लॉजिस्टिक हब है। देश के मध्य में होने के कारण हमारा प्रदेश संभावनाओं से परिपूर्ण है। इंदौर कार्गो हब प्रदेश को लॉजिस्टिक हब बनाने में मील का पत्थर साबित होगा। सीएम ने कहा कि इन्दौर एयरपोर्ट से 20 किलोमीटर की परिधि में लॉजिस्टिक हब विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने विदेश जाने वाले एक पार्सल को प्रतीकात्मक रूप से भेज कर आज से अंतर्राष्ट्रीय कार्गो की Indore international cargo hub शुरुआत की। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम की शुरुआत में बेटियों के पांव पखारे और कन्याओं के पैर पूजे।

 

अंतर्राष्ट्रीय कार्गो के रूप में एक बड़ी सौग़ात मिली
सीएम ने कहा कि इन्दौर सपनों का शहर है। यह मध्य प्रदेश ही नहीं, देश का तेज़ी से बढ़ता हुआ शहर है। यहा का सेवा भाव और संस्कार अद्भुत हैं। आज इंदौर को अंतर्राष्ट्रीय कार्गो के रूप में एक बड़ी सौग़ात मिली है।

 

क़ानून विरुद्ध काम करने वालों को सख़्त सजा दिलायी जाएगी
सीएम ने कहा कि मध्य प्रदेश में क़ानून विरुद्ध काम करने वालों को सख़्त सजा दिलायी जाएगी ड्रग्स माफ़िया हो चाहे भू माफ़िया मध्य प्रदेश में उन्हें पनाह नहीं मिलेगी। हम इन्हें मध्य प्रदेश के धरती पर दिखने नहीं देंगे यह हमारा संकल्प है। सीएम ने गत दिवस इनडोर में ड्रग्स की बड़ी खेप पकड़े जाने पर स्थानीय प्रशासन को बधाई दी। सीएम ने किसान वर्ग से आह्वान किया कि अब वे वैश्विक गुणवत्ता के अनुरूप उत्पादन करें। इन्दौर से अब अंतरराष्ट्रीय निर्यात की सुविधा से मिल गई है।

नए भवन की आवश्यकता से अवगत करवाया क्षेत्रीय सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि केंद्र सरकार से इंदौर एयरपोर्ट को हर संभव सुविधा और मदद मिली है। उन्होंने मुख्यमंत्री को इंदौर एयरपोर्ट में यात्रियों की निरंतर बढ़ती संख्या को देखते हुए यहाँ एक नए भवन की आवश्यकता से अवगत करवाया।

इंदौर अंतर्राष्ट्रीय कार्गो प्रमुख विशेषताएं

इंदौर से अंतर्राष्ट्रीय गंतव्य के लिए कार्गो का ट्रांसपोर्टेशन एयर इंडिया एवं इंडिगो एयरलाइन कर रही है। यह कार्गो इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि अब इंदौर इन्टरनेशनल एयर कार्गो सेवा के अंतर्गत इस टर्मिनल की वार्षिक क्षमता करीब 38 हजार मेट्रिक टन होगी जो पूर्व में लगभग 10 हजार मैट्रिक टन थी। प्रति माह 3 हजार मेट्रिक टन से अधिक इंटरनेशनल कार्गो आपरेशन सेवाएं प्राप्त होंगी।

जिंबाब्वे को निर्यात किए जाते हैं
इंदौर से टेक्सटाइल एवं रेडी गारमेंट्स, नमकीन एवं मिठाई निरंतर निर्यात की जाती है। इंदौर से फिनिश्ड लेदर हांगकांग, बांग्लादेश, चीन, यूरोप एवं कोरिया को निर्यात किया जाता है। यहां से दवाइयां बांग्लादेश पाकिस्तान सिंगापुर जर्मनी एवं फ्रांस को निर्यात की जाती हैं। यही नहीं इंदौर से मशीनरी पार्ट्स हांगकांग, चीन, जर्मनी सहित यूरोप के कई देशों, कोरिया, यूएई एवं जिंबाब्वे को निर्यात किए जाते हैं।इंदौर से स्पेयर पार्ट्स भी हांगकांग, चीन, जर्मनी और जिंबाब्वे को निर्यात किए जाते हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password