Fake SDM : कहानी फर्जी SDM की, जिसने लगाया 100 से अधिक लोगों को चूना

Indore Fake SDM : कहानी फर्जी SDM की, जिसने लगाया 100 से अधिक लोगों को चूना

Indore Fake SDM : मध्यप्रदेश के इंदौर से पुलिस ने एक फर्जी एसडीएम को पकड़ा है। पुलिस ने जब उस फर्जी महिला एसडीएम से पूछताछ की तो उसकी करतूतों की लिस्ट बनती चली गई। महिला ने ऐसे फर्जीवाड़ों का खुलासा किया जिसे सुनकर पुलिस अधिकारी हैरान हो गए। पुलिस के अनुसार महिला फर्जी एसडीएम ने कई लोगों को ठगी का शिकार बनाया है। इस काम में महिला का पति उसका साथ देता था। वह अपने पति को नौकर बनाकर साथ लेकर चलती थी। फर्जी एसडीएम की पहचान नीलम पराशर के रूप में हुई है।

ऐसे आई पुलिस के शिकंजे में

पुलिस के अनुसार हाल ही में इस जालसाज ने एक ज्वेलर को ठगी का शिकार बनाया है। यह दुकान पर ज्वेलरी खरीदने गई थी। उसने 2.50 लाख से ज्यादा की ज्वेलरी खरीदी और पेमेंट चेक से करने की बात कही। इसने जल्दीबाजी में चेक पर 28 लाख रुपये भर दिए। जब ज्वेलर बैंक गया तो उसे अपने ठगे जाने का अहसास हुआ। जिस अकाउंट का चेक काटा गया था उसमें बैलेंस जीरो था। उसने तुरंत क्राइम ब्रांच में इसकी शिकायत दर्ज करवाई। ज्वेलर की शिकायत पर पुलिस ने दोनों पति-पत्नी को धर दबोचा है। पूछताछ में इसकी ठगी की नई-नई कहानियां सामने आ रही हैं।

नीलम ने किए कई खुलासे

पूछताछ में नीलम ने ठग बनने की जो कहानी बताई है वह बेहद दिलचस्प है। नीलम ने बताया कि नौकरी के नाम पर उसे एक शख्स ने कभी ठगा था उसके बाद मैंने जीवन में ठग बनने का फैसला लिया। नीलम ने बताया कि मुझे लगा कि सरकारी नौकरी के लिए कोई भी आसानी से पैसा दे सकता है। इसके बाद मैंने एसडीएम बनकर बेरोजगार युवक और युवतियों को निशाना बनाना शुरू कर दिया। शुरुआत में मिली सफलता के बाद शातिर ठग बनती गई। उसने राज्यपाल के भी फर्जी सिग्नेचर कर कई आदेश भी जारी किए थे। पुलिस के अनुसार नीलम फर्राटेदार अंग्रेजी बोलती है। साथ ही वह रौब दिखाने के लिए अपने साथ एक गार्ड भी रखती थी। पुलिस के अनुसार ने बताया है पिछले डेढ़ साल में इस महिला ने 100 से ज्यादा लोगों को अपना शिकार बना चुकी है। इसने बेरोजगारों तक को भी नहीं छोड़ा। नौकरी दिलाने के नाम कई बेरोजगार को अपना शिकार बना चुकी है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password