भारत के ब्रिटेन से यात्रा प्रतिबंध बढ़ाने पर भारतीय छात्रों ने किया आपात यात्रा का अनुरोध

(अदिति खन्ना)

लंदन, 30 दिसंबर (भाषा) ब्रिटेन में कोरोना वायरस के तेजी से प्रसारित होने वाले नए स्वरूप के सामने आने पर भारत द्वारा वहां से हवाई यात्रा पर लगाए गए प्रतिबंध को बढ़ाने के बाद ब्रिटेन में भारतीय छात्रों के समूहों ने बुधवार को भारत सरकार से अनुरोध किया कि वो अपवाद संबंधी मामलों में आपातकालीन यात्रा के विकल्प पर विचार करे।

केंद्रीय नागर विमानन मंत्रालय द्वारा उड़ानों पर लगे प्रतिबंध को एक हफ्ता और बढ़ाकर सात जनवरी तक किये जाने की घोषणा के बाद समूहों ने आपात दखल की मांग की। इन समूहों से कुछ व्यक्तियों ने संपर्क किया था, जिन्हें पारिवारिक संकट या परिवार में किसी के निधन की वजह से भारत पहुंचना है।

ब्रिटेन में भारतीय छात्रों का प्रतिनिधित्व करने वाले समूह नेशनल इंडियन स्टूडेंट एंड एल्यूमनाई यूनियन यूके (एनआईएसएयू-यूके) की अध्यक्ष सनम अरोड़ा ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि इस बार परिवार के किसी सदस्य के गंभीर रूप से बीमार होने या हाल में गुजरने पर आपातकालीन यात्रा प्रबंध होंगे। मैंने खुद उन लोगों का दर्द सामने देखा है जो प्रतिबंध की वजह से यात्रा नहीं कर पाए-जिनमें से एक पिछले हफ्ते ही लागू हुआ है।”

विदेश मंत्रालय और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों से ट्विटर पर किये गए अनुरोध में एक प्रभावित छात्रा नेतल ने कहा, “मुझे ब्रिटेन से भारत की उड़ान के लिये नितांत आवश्यकता है। मेरी मां गंभीर रूप से बीमार हैं और मेरे लिये बेंगलुरु की उड़ान लेना अनिवार्य है।”

उसने कहा, “एमईए भारत से अतिशीघ्र मदद का अनुरोध। नियमों के कुछ अपवाद भी होने चाहिए।”

एनआईएसएयू-यूके ने नए साल पर शैक्षणिक सत्र शुरू करने की तैयारी कर रहे भारतीय छात्रों के लिये एक परामर्श जारी किया है और पुष्टि की कि ब्रिटेन के गृह विभाग के नियमों के मुताबिक नए स्नातकों या अध्ययन के बाद काम के वीजा को लेकर उनके आवेदन पर इसका कोई विपरीत प्रभाव नहीं पड़ेगा।

भाषा प्रशांत दिलीप

दिलीप

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password