Indian Railways: आपने ट्रेन में कई बार सफर किया होगा, लेकिन क्या आप बोगी, केबिन, कूपे और कंपार्टमेंट में अंतर जानते हैं

Indian Railways: आपने ट्रेन में कई बार सफर किया होगा, लेकिन क्या आप बोगी, केबिन, कूपे और कंपार्टमेंट में अंतर जानते हैं?

Indian Railways

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे को भारत का लाइफ लाईन कहा जाता है। रोजाना ट्रेन से लाखों की संख्या में लोग सफर करते हैं। इस दौरान यात्री कभी कूपे तो कभी केबिन या कभी कंपार्टमेंट में बैठ कर यात्रा करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि ट्रेन में कूपे या केबिन का क्या मतलब होता है। या बोगी किसे कहा जाता है? दरअसल, ज्यादातर लोग ट्रेन के डिब्बे को ही बोगी कहते हैं, लेकिन असल में बोगी कुछ और ही होती है। ठीक उसी प्रकार केबिन, कंपार्टमेंट या कूपे भी ट्रेन के कोच में अलग-अलग होते हैं। आइए विस्तार से जानते हैं इनके बारे में….

बोगी क्या है?

हम जब भी ट्रेन में यात्रा करते हैं तो लोगों को कहते हुए सुनते हैं कि मैं इस बोगी में यात्रा कर रहा हूं। या हमारा टिकट उस बोगी में है। लेकिन कई लोग इस चीज को नहीं जानते कि हम बोगी में नहीं बल्कि किसी कोच या कार में सफर करते हैं। आसान भाषा में हम इसे ट्रेन का डिब्बा कह सकते हैं। दरअसल, ट्रेन की बोगी पर कोई यात्री सवारी नहीं कर सकता, क्योंकि बोगी में बैठने के लिए सीट नहीं होती है। बल्कि बोगी पर ही ट्रेन के डिब्बे को फिट किया जाता है। इस बोगी को एक्सल की मदद से चार पहियों को जोड़कर बनाया जाता है और इसके उपर कोच को लगाया जाता है।

केबिन किसे कहते है?

वहीं केबिन की बात करें तो ये ट्रेन के First AC कोच में बने होते हैं। इसमें चार सीट होते हैं और एक दरवाजा होता है। रेलवे से आरामदायक सफर के लिए केबिन को सबसे बेहतर माना जाता है। केबिन के टिकट की कीमत किसी हवाई जहाज के टिकट की कीमत के आस-पास होती है। केबिन में यात्री दरवाजा बंद करके यात्रा कर सकते हैं।

कूपे (Coupe)क्या है?

केबिन के अलावा आपने कूपे (Coupe) का नाम सुना होगा। कूपे भी एक केबिन का ही रूप है। हालांकि इसमें और केबिन में अंतर ये है कि केबिन में चार सीट होती है और इसमें सीर्फ दो सीट। कूपे भी First AC कोच में ही बने होते हैं। कूपे में दो सीट होने के कारण ज्यादातर कपल्स इसे बुक करते हैं। क्योंकि इसमें दो लोगों के लिए ज्यादा प्राइवेसी मिलती है। कूपे में भी यात्रा करने वाले यात्री दरवाजा बंद करके यात्रा कर सकते हैं।

कंपार्टमेंट किसे कहते हैं?

किसी भी ट्रेन का एक कंपार्टमेंट 8 सीटों से मिलकर बनता है। हालांकि 2nd AC में एक कंपार्टमेंट में सीर्फ 6 सीटें ही होती है। इसे छोड़कर Third AC और स्लीपर में कुल 8 सीटों का कंपार्टमेंट होता है। जिसमें दो लोअर बर्थ, दो मिडल बर्थ, दो अपर बर्थ, एक साइड लोअर और एक साइड अपर बर्थ होती है। एक एलएचबी कोच में कुल 9 कंपार्टमेंट यानी 72 सीटें होती हैं। इसके अलावा जब हम कोच के गेट से सीट तक जाते हैं उसे लॉन कहा जाता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password