Indian Railways: बुलेट ट्रेन से रामलला के दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु, दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर को लेकर सितंबर में पेश होगी अंतिम डीपीआर रिपोर्ट!

bullet train

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट, बुलेट ट्रेन (Bullet Train) को लेकर एक नया अपडेट आया है। एक तरफ जहां मुंबई और अहमदाबाद बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का काम लगभग पूरा हो गया है। वहीं दूसरी तरफ देश में बुलेट ट्रेन चलाने वाली संस्था नेशनल हाई स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NHSRCL) ने उम्मीद जताई है कि सितंबर में दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर पर भी फाइनल डीपीआर रिपोर्ट तैयार हो जाएगी। बतादें कि दिल्ली के सराय काले खां से शुरू होकर, पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी तक करीब 865 किलोमीटर रूट पर बुलेट ट्रेन चलाने की योजना है।

इस कॉरिडोर में कुल 12 स्टेशन हो सकते हैं

योजना के मताबिक यमुना एक्सप्रेसवे पर बनने वाले जेवर एयरपोर्ट को देखते हुए बुलेट ट्रेन के डीपीआर को एयरपोर्ट से लिंक करने की रूपरेखा तैयार की जा रही है। इस रूट की शुरूआत दिल्ली के सराय काले खां से होगी जो वाराणसी तक जाएगी। इस कॉरिडोर में कुल 12 स्टेशन हो सकते हैं। इसका रूट दिल्ली से शुरू होकर नोएडा होते हुए मथुरा, आगरा, इटावा, कन्नौ, लखनऊ, अयोध्या, रायबरेली, प्रयागराज, भदोही और वाराणसी होगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दिल्ली के बाद नोएडा के सेक्टर-144 में यूपी का पहला स्टेशन बन सकता है, वहीं बुलेट ट्रेन का दूसरा स्टेशन जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर बनाने की तैयारी है।

एलिवेटेड लाइन पर चलेगी बुलेट ट्रेन

दिल्ली-वाराणसी कॉरिडोर पर बुलेट ट्रेन, एलिवेटेड लाइन पर चलेगी जिसकी ऊंचाई करीब 10 मीटर होगी। खास बात यह है कि बुलेट ट्रेन रामलला की नगरी अयोध्या से भी होकर गुजरेगी। एक अनुमान के मुताबिक दिल्ली से निकलने के बाद ट्रेन को वाराणसी पहुंचने में महज 4 घंटे का समय लगेगा। गौरतलब है कि नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड ने दिल्ली-वाराणसी बुलेट ट्रेन कॉरिडोर की अंतरिम डीपीआर रिपोर्ट पिछले साल 29 अक्टूबर को पेश की थी। इसके बाद जनवरी 2021 से इस कॉरिडोर के फाइनल डीपीआर पर काम शुरू हुआ।

अब उम्मीद है कि इसे अगले महीने सितंबर में पेश किया जा सकता है। इस विस्तृत रिपोर्ट में इलाके की जनसंख्या, इस क्षेत्र में बुलेट ट्रेन के लिए ट्रैफिक, फूट-फॉल का भी जिक्र किया जाएगा।

इन रूटों पर चल रहा है बुलेट ट्रेन योजना का सर्वे

1. वाराणसी-हावड़ा (करीब 760 किलोमीटर)

2. मुंबई-नागपुर (करीब 753 किलोमीटर)

3. दिल्ली-अहमदाबाद (करीब 866 किलोमीटर)

4. चैन्नई-मैसूर (करीब 435 किलोमीटर)

5. दिल्ली-अमृतसर (करीब 459 किलोमीटर)

6. मुंबई-हैदराबाद (करीब 711 किलोमीटर)

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password