प्रसिद्ध फ्रांसीसी डिजाइनर पियरे कार्डिन के निधन पर भारतीय हस्तियों ने जताया शोक -

प्रसिद्ध फ्रांसीसी डिजाइनर पियरे कार्डिन के निधन पर भारतीय हस्तियों ने जताया शोक

नयी दिल्ली, 30 दिसम्बर (भाषा) जानेमाने फ्रांसीसी डिजाइनर पियरे कार्डिन के निधन पर सिमी ग्रेवाल और तरुण ताहिलियानी सहित कई भारतीय हस्तियों ने शोक जताया है।

‘फ्रेंच एकेडमी ऑफ फाइन आर्ट्स’ ने मंगलवार को कार्डिन के निधन की जानकारी दी थी। वह 98 वर्ष के थे।

ग्रेवाल ने ‘वेनिस फिल्म उत्सव’ के एक वाकये को याद करते हुए कहा, ‘‘ मैंने साड़ी पहनी थी और वह मुझे लगातार कह रहे थे कि मैं सुंदर दिख रही हूं।’’

जब कई वर्ष बाद कार्डिन भारत आए तो ग्रेवाल से मुलाकात के समय अदाकारा ने पश्चिमी पोशाक पहन रखी थी।

ग्रेवाल ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘उन्होंने मुझसे पूछा कि वह साड़ी कहां गई? उन्हें साड़ी बहुत पसंद थी।’’

फैशन डिजाइनर तरुण ताहिलियानी ने अपने जीवन का पहला फैशन शो कार्डिन का ही देखा था,क्योंकि उनकी पत्नी सैलजा उसमें मॉडल थी।

ताहिलियानी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘ इस तरह मैंने अपने जीवन का पहला फैशन शो देखा। इसके बाद मैंने दिन-रात ‘स्कैच’ बनाए। तब मुझे पता चल गया था कि मैं क्या करना चाहता हूं।’’

ताहिलियानी ने कहा कि कार्डिन से उनकी मुलाकात करीब दो दशक पहले हुई थी और उन्होंने डिजाइनर को बताया था कि कैसे उन्होंने (कार्डिन) उन्हें प्रेरित किया।

डिजाइनर रीना ढाका ने बताया कि जब उन्होंने ‘फैशन मैगजीन’ पढ़नी शुरू की , तब उन्हें केवल एक विश्व प्रसिद्ध डिजाइनर के बारे में पता था और वह कार्डिन थे। वहीं डिजाइनर राहुल मिश्रा ने भी कार्डिन को एक प्रेरणा का स्रोत बताया।

कार्डिन अपनी मशहूर ‘स्पेस ऐज स्टाइल’ के कारण 1960 के दशक में फैशन जगत में प्रसिद्ध हुए थे ।

‘फ्रेंच एकेडमी ऑफ फाइन आर्ट्स’ ने ट्वीट कर कार्डिन (98) के निधन की जानकारी दी थी। हालांकि एकेडमी ने मौत के कारण और निधन कब और कहां हुआ की जानकारी नहीं दी।

कार्डिन का नाम कलाई घड़ी से लेकर चादरों तक हजारों उत्पादों पर अंकित है। 1970 से 80 के दशक के सबसे बड़े ब्रांड में से एक माने जाने वाले इस ब्रांड के उत्पादों पर उनके खूबसूरत हस्ताक्षर हुआ करते थे और ऐसे उत्पाद दुनियाभर में करीब 1,00,000 आउटलेट पर बिकते थे।

लेकिन बाद के वर्षों में इनमें कमी आने लगी और कहा जाने लगा कि ये सस्ते किस्म के होते हैं। वहीं उनके बनाए परिधान दशकों बाद भी 60 के दशक जैसे ही बने रहे।

कार्डिन का जन्म सात जुलाई 1922 को इटली के वेनिस में एक छोटे से कस्बे में एक कामकाजी परिवार में हुआ था। बाद में उनका परिवार फ्रांस आ गया और कार्डिन 14 साल की उम्र में ही दर्जी (टेलर) बन गए थे।

भाषा निहारिका नरेश

नरेश

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password