भारत ने सऊदी अरब, यूएई, बहरीन, मिस्र के साथ कतर के संबंध बहाल होने की खबरों का स्वागत किया

नयी दिल्ली, 6 जनवरी (भाषा) भारत ने खाड़ी सहयोग परिषद की बैठक में सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), बहरीन, मिस्र के साथ कतर के संबंध बहाल होने की खबरों का स्वागत करते हुए बुधवार को उम्मीद जतायी कि ऐसे उत्साहजनक घटनाक्रमों से क्षेत्र में शांति, प्रगति और स्थिरता को और बढ़ावा मिलेगा ।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘ हम सऊदी अरब के अल-उला में हाल ही में सम्पन्न खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) की शिखर बैठक के सकारात्मक घटनाक्रमों से प्रसन्न हैं । हम क्षेत्र के देशों के बीच मेलमिलाप का स्वागत करते हैं।’’

इस बारे में मीडिया के सवालों पर प्रवक्ता ने अपने बयान में कहा,‘‘भारत के जीसीसी के सभी देशों के साथ शानदार संबंध हैं और यह हमारा विस्तारित पड़ोस है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हम उम्मीद करते हैं कि ऐसे उत्साहजनक घटनाक्रमों से क्षेत्र में शांति, प्रगति और स्थिरता को और बढ़ावा मिलेगा।’’

श्रीवास्तव ने कहा कि खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) के देशों के साथ अपने द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने के लिये भारत काम करना जारी रखेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘हम जीसीसी के साथ अपने संस्थागत संवाद और भागीदारी को बेहतर बनाने को लेकर आशान्वित हैं।’’

गौरतलब है कि सऊदी अरब ने कतर के साथ वर्षों से चले आ रहे कूटनीतिक संकट को खत्म करने की घोषणा की, जिसके बाद मंगलवार को कतर के अमीर सऊदी अरब पहुंचे थे।

कतर के अमीर अरब देशों के नेताओं के वार्षिक सम्मेलन में भाग लेने के लिए मंगलवार को अल उला पहुंचे थे ताकि कतर और चार अरब देशों के बीच संबंधों में सुधार हो सके।

सऊदी अरब, मिस्र, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन ने कतर पर इस्लामिक कट्टरपंथी समूहों को समर्थन देने का आरोप लगाते हुए उस पर प्रतिबंध लगा दिए थे, जिसके चलते इस छोटे से लेकिन प्रभावशाली खाड़ी देश की एकमात्र जमीनी सीमा 2017 के मध्य से अधिकतर समय बंद ही रही है।

भाषा दीपक दीपक दिलीप

दिलीप

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password