भारत ने पश्चिम अफ्रीका में आतंकवाद, समुद्र में लूटपाट की घटनाओं पर चिंता व्यक्त की

संयुक्त राष्ट्र, 11 जनवरी (भाषा) भारत ने साहेल और चाड क्षेत्र में ‘‘निर्बाध’’ जारी आतंकवाद तथा गुयाना की खाड़ी में लूटपाट की घटनाओं पर चिंता प्रकट की है।

गुयाना की खाड़ी वाले क्षेत्र में हालिया समय में कई भारतीय नाविकों से लूटपाट की गयी और कई को अगवा भी कर लिया गया।

भारत ने आतंकवाद और समुद्र में लूटपाट की घटनाओं के खिलाफ प्रभावी व निर्णायक कदम उठाए जाने की जरूरत को रेखांकित किया।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी एस तिरुमूर्ति ने सोमवार को कहा, ‘‘साहेल और लेक चाड क्षेत्र में स्थिति बहुत चिंताजनक है। चाड क्षेत्र हमेशा से गंभीर चिंता का कारण बना हुआ है। आतंकवाद, मादक पदार्थों की तस्करी और संगठित अपराध की घटनाएं निर्बाध रूप से जारी हैं। बुर्किना फासो, माली और नाइजर में भी आतंकवादी घटनाएं हुई हैं। आतंकवाद से निपटने के लिए इस क्षेत्र में अभियान तेज करने की जरूरत है।’’

पश्चिम अफ्रीका और साहेल के लिए संयुक्त राष्ट्र के कार्यालय (यूएनओडब्ल्यूएएस) पर सुरक्षा परिषद के खुले सत्र में तिरुमूर्ति ने कहा कि क्षेत्र में आतंकवाद से मुकाबले के लिए करीबी समन्वय की जरूरत है।

समुद्र में डकैती की घटनाओं पर उन्होंने कहा कि गुयाना की खाड़ी में लूटपाट का मामला चिंता का विषय है और पिछले छह महीने में इस तरह की 17 घटनाएं हो चुकी हैं। इसके लिए त्वरित कदम उठाए जाने की आवश्यकता है।

भाषा आशीष प्रशांत

प्रशांत

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password