Inauguration of Bhopal AIIMS Auditorium : 71 देशों को दी जा रही भारत में बनी कोरोना वैक्सीन, केंद्रीय मंत्री एम्स सभागार का किया लोकार्पण

Inauguration of Bhopal AIIMS Auditorium

भोपाल। ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स) में थ्रीडी प्रिंटिंग तकनीक से दांतों के मरीजों का इलाज किया जाएगा। प्रदेश में भोपाल एम्स Inauguration of Bhopal AIIMS Auditorium पहला संस्थान होगा जहां इस तकनीक का उपयोग होगा। वहीं कैंसर मरीजों का इलाज ब्रेकी थैरेपी से किया जाएगा। इन सुविधाओं का शुभारंभ आज शाम केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने किया। डॉ. हर्षवर्धन के साथ प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी, रमाकांत भार्गव भी मौजूद रहे।

 

मरीजों का इलाज ब्रेकी थैरेपी से होगा
इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने एम्स सभागार का लोकार्पण किया। अब भोपाल एम्स में थ्रीडी प्रिंटिंग तकनीक से दांतों का इलाज हो सकेगा। बताया जा रहा है कि प्रदेश का ये पहला हॉस्पिटल है जहां थ्रीडी प्रिंटिंग से इलाज होगा साथ ही कैंसर मरीजों का इलाज ब्रेकी थैरेपी से होगा।

 

सुविधाओं का शुभारंभ कराया गया
जानकारी के अनुसार एम्स के दंत चिकित्सा विभाग में इस तकनीक का उपयोग करने के लिए पूरा सेटअप लगा दिया गया है। इसके उपयोग से इम्प्लांट तैयार किए जाएंगे। वहीं, आंकोलॉजी डिपार्टमेंट में ब्रेकी थैरेपी मशीन लग चुकी है। केंद्रीय मंत्री के हाथों इन सुविधाओं का शुभारंभ किया गया। स्वास्थ्य की रक्षा करना है

 

स्वास्थ्य की रक्षा करना है

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं पर्यावरण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने भोपाल एम्स में कार्यक्रम के दौरान कहा है कि पर्यावरण की रक्षा के लिए धरातल पर काम करने की जरूरत है केवल रिसर्च से बात नहीं बनेगी रिसर्च का लाभ सभी वर्गों को मिलना चाहिए तभी रिसर्च की सार्थकता है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण की रक्षा करना वास्तव में लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा करना है पर्यावरण बिगड़ने के कारण स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है संस्थान को यह तय करना है कि ग्रीन केंपस और पर्यावरण की रक्षा के लिए किए जा रहे कार्य का जनता को सीधा लाभ मिले।

 

71 देशो को वैक्सीन दी जा रही है
ग्राम भौंरी बाईपास रोड पर राष्ट्रीय पर्यावरण स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान द्वारा निर्मित ग्रीन के कैंपस का उदघाटन करते हुए डॉ.हर्षवर्धन ने कहा कि वर्ष 2020 में कोरोना संकट के कारण बहुत समस्या आई लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हमने ऐसा काम किया जिसकी विश्व भर में सराहना की जा रही है। हमारी वैक्सीन की मांग पूरे विश्व में है। 71 देशो को वैक्सीन दी जा रही है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password