किसानों को मिलेगी Panchayat Level Weather Forecast जानकारी

Panchayat Level Weather Forecast: पंचायत स्तरीय मौसम जानकारी देने की तैयारी, जानें मौसम के पूर्वानुमानों से खेती में कितना होगा फायदा

Panchayat-Level-Weather-Forecast
Share This

Panchayat Level Weather Forecast: भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) जल्द ही पंचायत स्तरीय मौसम का पूर्वानुमान (Panchayat Level Weather Forecast) जारी करने लगेगा। इससे छोटे किसानों को खेती की बेहतर योजना बनाने और मौसम से संबंधित खेती को होने वाले नुकसान को कम करने में मदद मिलेगी। अब आप सोच रहे होंगे कि मौसम के पूर्वानुमान (Panchayat Level Weather Forecast) से किसानों को कैसे और कितना फायदा होने वाला है तो हम आपको इसकी पूरी जानकारी बता देते हैं…

फसलों के लिए क्यों जरूरी है मौसम का पूर्वानुमान

मौसम और खेती का चोली दामन का साथ है। बारिश, ठंड, गर्मी ये सभी फसलों को प्रभावित करते हैं। बोवनी कब करनी है। कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कब किया जाना चाहिए। खाद देने का समय कब सही है। यह सभी फसलों के उत्पादन के लिए बेहद जरूरी है और पूरी तरह से मौसम पर निर्भर करते हैं। मौसम की सटीक (Panchayat Level Weather Forecast) जानकारी से किसान फसलों के उत्पादन को तो बढ़ा ही सकता है, साथ ही होने वाले नुकसान को भी कम कर सकता है।

Panchayat Level Weather Forecast tomar

मौसम के पूर्वानुमान से खेती में यह मिलती है मदद

🌱 फर्टीलाइजर का उपयोग: मौसम के पूर्वानुमान (Panchayat Level Weather Forecast) खेती को यह जानने में मदद करता है कि फसल में फर्टीलाइजर के उपयोग का सही समय कब है और यह कितनी मात्रा में देना है। इसे इस तरह से समझिये कि खेत इतना सूखा होना चाहिए कि उर्वरक बह न जाए, लेकिन इतना नम होना चाहिए कि उर्वरक मिट्टी में समा जाए। यह मिट्टी की नमी और तापमान पर निर्भर है।

🌱 कीट नियंत्रण: मौसम का पूर्वानुमान (Panchayat Level Weather Forecast) खेत में फैलने वाले कीटों और अन्य फसल रोगों को नियंत्रित करने में मदद करता है। मौसम के कारक फसल को नष्ट करने वाले कीटों को प्रभावित कर सकते हैं। इस क्षेत्र की जानकारी यह निर्धारित करने में मदद कर सकती है कि कीटनाशकों का उपयोग कब किया जाना चाहिए।

🌱 सिंचाई संबंधी निर्णय: किसानों को यदि सही समय पर सटीक मौसम (Panchayat Level Weather Forecast) की जानकारी मिल जाए तो उसे सिंचाई संबंधी निर्णय लेने में मदद मिलती है। यदि कोई किसान बिजली और पंप के उपयोग से सिंचाई करता है और उसके ठीक बाद ही बारिश हो जाए तो बिजली या डीजल पंप को चलाने में खर्च की गई राशि बर्बाद हो जाएगी।

संबंधित खबर: MP Weather Update: राहत की खबर, अब नहीं पड़ेगी कड़ाके की ठंड, जानिए आज कैसा रहेगा मौसम

सही मौसम की जानकारी से एक किसान को कितना फायदा

Panchayat Level Weather Forecast kedar

वर्षा आधारित क्षेत्रों में यदि एक छोटा किसान मौसम पूर्वानुमान (Panchayat Level Weather Forecast) का उपयोग करता है और उसके अनुसार कार्य करता है तो उसे 12,500 रुपये का लाभ होता है। भारत मौसम विज्ञान विभाग तीन करोड़ किसानों तक पहुंच चुका है और इस अनुसार लाभ 13,300 करोड़ रुपये तक पहुंच जाता है। कल्पना कीजिए कि अगर देश के सभी 10 करोड़ किसानों तक मौसम का पूर्वानुमान पहुंच सकें तो जीडीपी लाभ कितना होगा।

तो क्या वर्तमान में किसान नहीं ले रहे मौसम के पूर्वानुमान की जानकारी

ऐसा नहीं है, मौसम के पूर्वानुमान (Panchayat Level Weather Forecast) के बिना फसलों की बोवनी से लेकर कटाई तक के निर्णय नहीं लिये जा सकते। इसके लिए किसान मौसम के पूर्वानुमानों पर निर्भर है। इसके लिए वह Weather app, Acu weather, Skymet, Windy.Com जैसे अन्य मोबाइल ऐप या वेबसाइट का उपयोग कर रहा है।

संबंधित खबर: MP News: बदनावर में खेतों में घूम रहा नील गायों का झुंड, फसलें बर्बाद; किसानों ने SDM को सौंपा ज्ञापन

मोबाइल पर पूर्वानुमान की पूरी जानकारी फिर नये प्रोजेक्ट की क्या जरूरत

Panchayat Level Weather Forecast ved

किसान अभी मौसम के पूर्वानुमान (Panchayat Level Weather Forecast) के लिए उपलब्ध ऐप और वेबसाइट पर निर्भर है। हालांकि इनकी एक्यूरेसी को लेकर हमेशा सवाल खड़े होते रहते हैं। इनमें से अधिकत्तर तो सर्टीफाइड भी नहीं है। ऐसे में यदि किसान किसी गलत पूर्वानुमान के आधार पर खेती संबंधी निर्णय ले लेता है तो उसे नुकसान उठाना पड़ सकता है। यही कारण है कि भारत मौसम विज्ञान विभाग हर—हर मौसम, घर—घर मौसम अभियान के तहत पंचायत स्तरीय मौसम के पूर्वानुमानों की तरफ कदम बढ़ा रहा है।

किसानों तक कैसे पहुंचेगी मौसम पूर्वानुमानों की जानकारी

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) गांव—गांव तक जानकारी पहुंचाने के लिए पंचायत सचिवों, सरपंचों, वार्ड सदस्यों की मदद लेगा। इसके लिए हर पंचायत से 5 लोगों को जोड़ा जाएगा। पंचायत के किसानों के समूहों का सोशल मीडिया ग्रुप बनाया है। जहां किसानों को मोबाइल पर एसएमएस भेजा जाएगा। जो किसान सोशल मीडिया ग्रुप में जुड़े हैं, उन्हें उस पंचायत के ग्रुप में संदेश भेजा जाएगा। जहां किसानों को कृषि संबंधित जानकारी भी मिलेगी।

ये भी पढ़ें:

Chattisgarh Sachin Pilot: सचिन पायलट दौरे के दूसरे दिन लेंगे चुनाव समिति की बैठक, संसदीय क्षेत्रों की लेंगे रिपोर्ट

Ujjain News: महाकाल के 5 लाख लड्डुओं से अयोध्या में लगेगा भोग, तैयारियां शुरू

Panchak January 2024: सावधान कल से शुरु हो रहे हैं मृत्यु पंचक, पांच दिन तक रहना होगा सतर्क

Solar Electricity: सोलर बिजली महंगी हो सकती है, उपभोक्ता देंगे इतना चार्ज

Top Hindi News Today: साउथ एक्ट्रेस नयनतारा के खिलाफ जबलपुर में केस दर्ज, भगवान राम का अपमान करने का आरोप, नेटफ्लिक्स से हटाई गई मूवी

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password