WARRANTY OR GUARANTEE TERMS : अगर दुकानदार वारण्टी या गारंटी का माल वापस न ले तो करें यह काम, जानिए

WARRANTY OR GUARANTEE TERMS : अगर दुकानदार वारण्टी या गारंटी का माल वापस न ले तो करें यह काम, जानिए

WARRANTY OR GUARANTEE TERMS : भारत की अधिकांश जनता गांवों में रहती आई है। गांवों में अधिक्तर आज भी निर्धन और अशिक्षित लोग है। जिसके चलते गांव के भोले भाले लोग जो मिलता है वह खरीद कर अपना काम चला लेते है। क्योंकि गांव के लोगों का मानना है कि उनका काम होना चाहिए उन्हें गुणवत्ता (WARRANTY OR GUARANTEE TERMS) से कोई मतलब नहीं होता है। लेकिन ​वस्तुओं का पूरा पैसा देने के बाद भी उन्हें सही वस्तु नहीं मिल पाती है। जिसके चलते देशभर के कई हिस्सों में घटिया क्वालिटी और नकली वस्तुओं का चलन तेजी से बढ़ गया है।

आज के समय की बात करे तो वर्तमान में जनता महंगाई की शिकार है तो वही नकली और घटिया वस्तुओं को लेने पर मजबूर है। हालांकि इन सब पर लगाम लागने के लिए भारत सरकार द्वारा उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम,1986 पारित किया गया। जिसके तहत उपभोक्ता के हितों की सुरक्षा करना एवं नकली वस्तुओं एवं सेवाओ से हानि होने पर ग्राहकों को क्षतिपूर्ति दिलवाना हैं।

कैसे करें शिकायत

नकली या घटिया क्वालिटी (WARRANTY OR GUARANTEE TERMS) वस्तुओं की शिकायत के लिए आप वकील के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। शिकायत दर्ज करने में किसी प्रकार का शुल्क नहीं देना होता है। शिकायतकर्ता को शिकायती आवेदनद में अपना पूरा नाम, विरोधी पक्ष का पूरा नाम, शिकायत कैसे हुई उसका पूरा विवरण, साक्ष्य संबंधित दस्तावेज जैसे कि बिल, वारण्टी/गारन्टी (WARRANTY OR GUARANTEE TERMS) कार्ड जो दुकानदार ने आपको दिया हो। साथ ही आवेदन के शिकायतकर्ता के हस्ताक्षर करना जरूरी होता है। यह सभी आवेदन के साथ सलंग्न करना होता है।

कहां कितने तक की होती है सुनवाई

पांच लाख रूपए तक की वस्तु या सेवा की सुनवाई जिला स्तर पर जिला फोरम में होगी। 20 लाख रूपये तक की सुनवाई राज्य स्तर पर राज्य आयोग में होगी। वही 20 लाख से अधिक वस्तु या सेवा की सुनवाई राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रीय आयोग में सुनवाई होगी। जिला फोरम के निर्णय के विरुद्ध आप चाहे तो राज्य आयोग में कर सकते है। वही राज्य आयोग के निर्णय के विरुद्ध अपील राष्ट्रीय आयोग में की जा सकती है।

खरीदी करते समय रखे इन बातों का ध्यान

अगर आप किसी वस्तु को खरीदते है तो उसकी वारंटी या गारंटी (WARRANTY OR GUARANTEE TERMS) कार्ड जरूर ले। वस्तु ISI एवं एगमार्क वाली ही खरीदें​। खरीदी करते समय वस्तु की मैन्यूफैक्चरींग डेट, पैकिंग दिनांक और एक्सपायरी डेट जरूर देखे। खरीदी का पूरा बिल जरूर लें। हर उपभोक्ता को दुकानदार से बिल लेना चाहिए एवं गारन्टी/वारण्टी कार्ड (WARRANTY OR GUARANTEE TERMS) भी लेना चाहिए अगर आपके द्वारा खरीदी गई वस्तु पर गारंटी या वारण्टी (WARRANTY OR GUARANTEE TERMS)  है तो। क्योंकि अगर आपकी वस्तु नकली या खराब निकलती है तो आप इसकी शिकायत करने में सक्षम हो। क्योंकि बिना साक्ष्य के बिना आपकी शिकायत दर्ज नहीं हो सकती है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password