पुंछ में आईईडी से लैस मोटरसाइकिल का पता लगा, बड़ा हादसा टला

जम्मू, 10 जनवरी (भाषा) जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के मेंढर सेक्टर में मोटरसाइकिल में लगे 2.4 किलोग्राम परिष्कृत उपकरण विस्फोटक (आईईडी) का समय रहते पता चलने से बड़ा हादसा टल गया। एक अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी।

पुंछ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रमेश अंगरल ने कहा कि आईईडी शनिवार को रात 10 बजे के आसपास एक पुलिस पार्टी को गोहलद रीलन-मेंढर रोड के किनारे मिला और रविवार को दोपहर एक बजे के आसपास बम निरोधक दस्ते द्वारा नियंत्रित विस्फोट में उसे नष्ट कर दिया गया ।

प्रारंभिक जांच का हवाला देते हुए अधिकारी ने कहा कि एक संदिग्ध आतंकवादी ने आईईडी लगा मोटरसाइकिल वहां छोड़ दिया और समझा जाता है कि वह पास के वन क्षेत्र में भाग गया।

एसएसपी ने कहा कि उसे पकड़ने के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी करने के बाद पुलिस और राष्ट्रीय राइफल्स द्वारा संयुक्त तलाशी अभियान जारी है ।

एसएसपी ने कहा कि बम निरोधक दस्ते ने बिना किसी क्षति के नियंत्रित विस्फोट में आईईडी को नष्ट कर दिया।

उन्होंने कहा कि कानून की प्रासंगिक धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है और दोषियों को सजा दिलाने के लिए जांच जारी है।

भाषा शुभांशि नीरज

नीरज

Share This

0 Comments

Leave a Comment

पुंछ में आईईडी से लैस मोटरसाइकिल का पता लगा, बड़ा हादसा टला

जम्मू, 10 जनवरी (भाषा) जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले के मेंढर सेक्टर में मोटरसाइकिल में लगे 2.4 किलोग्राम परिष्कृत उपकरण विस्फोटक (आईईडी) का समय रहते पता चलने से बड़ा हादसा टल गया। एक अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी।

पुंछ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रमेश अंगरल ने कहा कि आईईडी शनिवार को रात 10 बजे के आसपास एक पुलिस पार्टी को गोहलद रीलन-मेंढर रोड के किनारे मिला और रविवार को दोपहर एक बजे के आसपास बम निरोधक दस्ते द्वारा नियंत्रित विस्फोट में उसे नष्ट कर दिया गया ।

प्रारंभिक जांच का हवाला देते हुए अधिकारी ने कहा कि एक संदिग्ध आतंकवादी ने आईईडी लगा मोटरसाइकिल वहां छोड़ दिया और समझा जाता है कि वह पास के वन क्षेत्र में भाग गया।

एसएसपी ने कहा कि उसे पकड़ने के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी करने के बाद पुलिस और राष्ट्रीय राइफल्स द्वारा संयुक्त तलाशी अभियान जारी है ।

एसएसपी ने कहा कि बम निरोधक दस्ते ने बिना किसी क्षति के नियंत्रित विस्फोट में आईईडी को नष्ट कर दिया।

उन्होंने कहा कि कानून की प्रासंगिक धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है और दोषियों को सजा दिलाने के लिए जांच जारी है।

भाषा शुभांशि नीरज

नीरज

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password