ICICI-PNB Interest Rates Hike : इन बैंकों के ग्राहकों को दिया तगड़ा झटका, रेपो रेट बढ़ने के बाद बढ़ाई ब्याज दरें, अब लोन हो जाएगा महंगा

ICICI-PNB Interest Rates Hike : इन बैंकों के ग्राहकों को दिया तगड़ा झटका, रेपो रेट बढ़ने के बाद बढ़ाई ब्याज दरें, अब लोन हो जाएगा महंगा

नई दिल्ली। शुक्रवार को RBI द्वारा रेपो रेट में इजाफा बढ़ाने के बाद अब दो प्रमुख ICICI-PNB Interest Rates Hike बैंकों ने भी अपने ग्राहकों को बड़ा झटका देते हुए ब्याज दरें बढ़ा दी हैं। आपको बता दें RBI ने शुक्रवार को रेपो रेट बढ़ाकर 5.4 कर दी हैं। जिसके बाद अब ICICI और पंजाब नेशनल बैंक PNB ने ब्याज दरें बढ़ा दी हैं। आपको बता दें इसमें से ICICI की नई दरें 5 अगस्त से ही लागू हो गई हैं, तो वहीं पंजाब नेशनल बैंक PNB की नई दरें 8 अगस्त से लागू हो जाएंगी।

RBI ने शुक्रवार को ब्याज दर 0.5 फीसदी बढ़ा दी। जिससे रेपो दर 3 साल के उच्चतम स्तर 5.40 फीसदी पर पहुंच गई है। PTI के मुताबिक  ICICI बैंक ने एक सूचना में कहा कि ICICI बैंक बाह्य मानक कर्ज दर को RBI की नीतिगत दर से संदर्भित किया जाता है।

जान लें नई दरें –
पीटीआई के अनुसार बैंक ने कहा कि आईईबीएलआर 9.10 फीसदी सालाना और प्रतिमाह देय है। यह 5 अगस्त, 2022 से प्रभावी हो गई है। सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक ने भी दर में वृद्धि की जानकारी देते हुए कहा कि आरबीआई द्वारा रेपो दर बढ़ाने के बाद रेपो से संबंधित कर्ज दर आरएलएलआर, को भी 7.40 फीसदी से बढ़ाकर 7.90 फीसदी किया गया है जो 8 अगस्तए 2022 से प्रभावी होगी। इस महीने ICICI बैंक ने सभी अवधि के लिए फंड आधारित उधार दर एमसीएलआर की सीमांत लागत को 0.15 बढ़ा दिया था।

महंगाई का है असर –
गौरतलब भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांता दास ने मौद्रिक नीति समीक्षा की घोषणा के मौके पर शुक्रवार को इस बात का ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा है कि मुद्रास्फीति 7 के आसपास चल रही है जो अस्वीकार्य रूप से ज्यादा है। इसको ध्यान में रखते हुए आरबीआई ने दरों में 0 50 की आक्रामक बढ़ोतरी की है। अर्थशास्त्रियों और विश्लेषकों का अनुमान है कि रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समिति उस समय तक दरों में बढ़ोतरी करती रहेगी जब तक कि नीतिगत दर चालू वित्त वर्ष के आखिर तक 6.65 फीसदी की तटस्थ दर तक नहीं पहुंच जाती।

बाकी बैंक भी बढ़ा सकते हैं ब्याज दरें –
आपको बता दें आईसीआईसीआई और पंजाब नेशनल बैंक के बाद बाकी बैंक भी जल्द अपनी दरों में बढ़ोत्तरी कर सकते हैं। यह माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में अन्य बैंकों के ग्राहकों को भी महंगाई का झटका मिल सकता है। जिसके बाद लोन महंगे हो सकते हैं। जिसके बाद एक्सपर्ट का मानना है कि अगले साल वित्त वर्ष 2023-24 की शुरुआत तक मुद्रास्फीति निर्धारित लक्ष्य के ऊपर बनी रह सकती है। लिहाजा मार्च तक दर में 0.75 फीसदी की बढ़ोत्तरी देखी जा सकती है।

RBI MPC Meet August 2022 : RBI ने दिया झटका, बढ़ जाएगी लोन की EMI, रेपो रेट बढ़कर 5.4 हुआ

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password