Betul News: फिर सामने आई पति की हैवानियत, पत्नी का कुल्हाड़ी से काटा हाथ, तीन हफ्तों में तीसरी वारदात…

बैतूल। प्रदेश में पति की हैवानियत की तीन हफ्तों में तीन खबरें सामने आईं हैं। भोपाल और सागर के बाद अब बैतूल जिले में भी ऐसी ही एक पति की हैवानियत की खबर सामने आई है। बैतूल जिले में एक पति ने अपनी पत्नी का कुल्हाड़ी से हाथ काट डाला। इतना ही पीड़िता सिर पर भी गंभीर चोटें आईं हैं। घायल महिला को हमीदिया अस्पताल में भर्ती किया गया है। महिला का इलाज चल रहा है। दरअसल बैतूल के चिचौली निवासी 40 वर्षीय कविता वंशकार का पति राजू से छोटी-छोटी बातों पर विवाद होता था।

गुरुवार को यह विवाद इतना बढ़ गया कि गुस्से में आकर राजू ने अपनी पत्नी पर कुल्हाड़ी से हमला बोल दिया। इस हमले में पत्नी का बायां हाथ कट गया और दाएं हाथ की उंगलियां भी कट गई हैं। राजू ने अपनी पत्नी पर सोते समय हमला किया था। महिला के चेहरे पर भी चोटों के निशान आए हैं। पीड़िता को अस्पताल में भर्ती किया गया है। जहां उसका इलाज किया जा रहा है। पीड़िता की हालत में सुधार देखने को मिल रहा है। 16 डॉक्टर्स की एक टीम ने देर रात तक महिला का ऑपरेशन किया।

इससे पहले भी घट चुकीं हैं ऐसी घटनाएं…
बता दें कि इससे पहले 9 मार्च को राजधानी के निशातपुरा से भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था। यहां की पारस कॉलोनी में रहने वाली संगीता पर उसके पति प्रीतम सिंह ने फरसे से हमला किया था। इस हमले में संगीता के एक हाथ और एक पैर का पंजा कट गया था। आनन-फानन में संगीता को हमीदिया अस्पताल लाया गया था। जहां महिला के हाथों को ऑपरेशन कर जोड़ा गया था। हालांकि यह सर्जरी फेल रही थी। वहीं इसके बाद 22 मार्च को रात 11 बजे सागर के बामनहोरा गांव में रणधीर ने अपनी पत्नी अनीता पर कुल्हाड़ी से वार किया था। इस हमले में अनीता के दोनों हाथ कट गए थे। अब यह बैतूल जिले में तीन हफ्तों में तीसरा मामला है। बैतूल में होने वाली हमले की पीड़िता को डॉक्टर्स ने खून चढ़ाकर सर्जरी की है। अब पीड़िता की हालत में सुार बताया जा रहा है।

सीएम ने किया कानून का ऐलान…
प्रदेश के मुखिया सीएम शिवराज सिंह ने इसको लेकर कानून बनाने का ऐलान किया है। सीएम चौहान ने शुक्रवार को इन घटनाओं का संज्ञान लेते हुए राज्य में महिला हिंसा के खिलाफ नया कानून बनाने का फैसला लिया है। महिलाओं की उनके पति द्वारा हाथ काटे जाने की घटना को सीएम ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह के अपराधों के खिलाफ कठोर कानून बनाने के निर्देश दे दिए गए हैं। बता दें कि पिछले तीन हफ्ते में इस तरह की तीन घटनाएं सामने आ चुकी हैं।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password