Happy Janmashtami 2022 Image, Muhurat : जन्माष्टमी आज, जय कन्हैला लाल की.... भक्ति भरे संदेश भेजकर अपनों का दिन बनाएं शुभ

Happy Janmashtami 2022 Image, Muhurat : जन्माष्टमी आज, जय कन्हैला लाल की…. भक्ति भरे संदेश भेजकर अपनों का दिन बनाएं शुभ

नई दिल्ली। पूरे देश में आज जन्माष्टमी का Happy Janmashtami 2022 Image  त्योहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा। janmashtmi message 2022 बाजार पूरी तरह सज चुके हैं। अगर आप भी इस अपनों के साथ इस त्योहार को खास बनाना चाहते हैं तो हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं कुछ खास संदेश। साथ ही जानें आज क्या है इस पूजा का खास मुहूर्त।

आपको बता दें हिन्दू पंचांग के अनुसार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार भाद्रपद मास के कृष्ण कींतउपा दमूे पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। ऐसी मान्यता है कि भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष के रोहिणी नक्षत्र में अष्टमी तिथि को भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था। जिसे हर वर्ष भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भगवान कृष्ण के बाल रूप की पूजा की जाती है।

रात में ही मनाते हैं जन्मोत्सव
इस त्योहार को लेकर कई लोग मुहूर्त देखते है तो कई लोग मध्य रात्रि यानि रात 12 बजे जन्मोत्सव मनाते हैं। इस दिन की पूजा रात में की जाती है। धार्मिक मान्यता के मुताबिक कृष्ण जन्माष्टमी का व्रत रखने और इस दिन भगवान कृष्ण की पूजा करने से वैवाहिक जीवन सुखमय रहता है। संतान सुख की प्राप्ति होती है और जीवन के सभी क्षेत्रों में उन्नति होती है।

(Janmashtami 2022 Shubh Muhurt)

जन्माष्टमी का त्योहार इसलिए होगा खास 
पंडित राम गोविंद शास्त्री के अनुसार जन्माष्टमी का त्योहार 19 और 20 अगस्त को मनाया जाएगा। वो इसलिए क्योंकि कोई भी व्रत परिवार के कल्याण के लिए किया जाता है। स्मार्थ संप्रदाय के लोग अष्टमी तिथि में व्रत को शुभ मानते हैं। चूंकि अष्टमी तिथि 18 अगस्त की रात 12ः5 मिनट के बाद आई है इसलिए ये त्योहार 19 अगस्त को मनाया जाएगा। तो वहीं वैष्णव संप्रदाय के लोग ये त्योहार 20 अगस्त को मनाएंगे। क्योंकि इस संप्रदाय के लोग शुभ मुहूर्त के लिए रोहिणी नक्षत्र का ध्यान रखते हैं। इस लिहाज से श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार 19 और 20 अगस्त को मनाया जाएगा।

पूजा सामग्री – puja samgri 
वैसे तो सभी पूजा में एक समान सामान लगता है। लेकिन श्री कृष्ण जन्माष्टमी पूजन में कुछ विशेष पूजन सामग्री की आवश्यकता होती है। जिसमें ककड़ी, खीरा, एक साफ.सुथरा पीला कपड़ाए चौकीए पंचामृतए बाल कृष्ण की मूर्ति, खीरा, दही, शहद, दूध, सांहासन, गंगाजल, दीपक, घी, बाती, अक्षत, माखन, मिशरी, भोग सामग्री, धूपबत्ती, गोकुलाष्ट चंदन जरूर होना चाहिए। इसके अलावा आप भगवान को अर्पित करने के लिए पीले कपड़े, पीले फूल या पीले फल भी ला सकते हैं।

जन्माष्टमी व्रत का नियम – janmastmi vrat ke niyam
जन्माष्टमी के दिन प्रातःकाल स्नान करके भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करें। इसके बाद व्रत का संकल्प लेकर जलाहार या फलाहार जैसे आप व्रत रख रहे हैं वे ग्रहण करें। लोग अपनी सामर्थ अनुसार व्रत रख सकते हैं। मध्यरात्रि को भगवान श्रीकृष्ण की धातु की प्रतिमा को किसी पात्र में रखें। उस प्रतिमा को पहले दूध, दही और शहद आदि पंचामृत से स्नान कराएं। इसके बाद शक्कर और अंत में घी से स्नान कराएं। इसे पंजामृत स्नान भी कहते हैं। इसके बाद कान्हा को जल से स्नान कराएं। श्री कृष्ण को पीले फूल और प्रसाद अर्पित करें। ध्यान रहे कि अर्पित की जाने वाली चीजें शंख में डालकर ही अर्पित करेंं। इसके बाद इच्छित मनोकामना के अनुसार श्रीकृष्ण के मंत्रों का जाप करें। प्रसाद ग्रहण करें और दूसरों में भी बांटें।

कुछ खास मैसेज या कोट्स – 

मेरा आपकी कृपा से, सब काम हो रहा है
करते हो तुम कन्हैया, मेरा नाम हो रहा है
अपनी कृपा सदैव सब पर बनाए रखना
कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई!

माखन चुराकर जिसने खाया
बंसी बजाकर जिसने नचाया
खुशी मनाओ उसके जन्मदिन की
जिसने दुनिया को प्रेम का पाठ पढ़ाया
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभकामनाएं !

माखन चोर नन्द किशोर
बांधी जिसने प्रीत की डोर
हरे कृष्ण हरे मुरारी
पूजती जिन्हें दुनिया सारी
आओ उनके गुण गाएं सब मिल के जन्माष्टमी मनाएं
जन्माष्टमी की ढेरों बधाइयां !

ब्रज के दुलारे, यशोदा मैया की आंखों के तारे
राधा और गोपियां उन्हें सखा कहकर पुकारे ऐसे मनमोहक हैं श्रीकृष्ण हमारे !

कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई!

कृष्णा तेरी गलियों का जो आनंद है
वो दुनिया के किसी कोने में नहीं
जो मजा तेरी वृंदावन की रज में है
मैंने पाया किसी बिछौने में नहीं
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभकामनाएं !

श्रीकृष्ण के चरण आपके घर आएं
खुशियों के आप दिये जलाएं
दुख और परेशानी आपसे दूर हो जाएं
ऐसी कृपा प्रभु श्रीकृष्ण की पाएं
कृष्ण जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं !

देखो फिर कृष्ण जन्माष्टमी आई है
माखन की हांडी ने फिर मिठास बढ़ाई है
कान्हा की लीला है सबसे प्यारी
वो दें तुम्हें दुनिया भर की खुशियां सारी
हैप्पी जन्माष्टमी !

पलकें झुकें और नमन हो जाए
मस्तक झुके और वंदन हो जाए
ऐसी नज़र, कहां से लाऊं मेरे कन्हैया
आपको याद करूं और आपके दर्शन हो जाएं
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की शुभकामनाएं

कृष्ण जिनका नाम
गोकुल जिनका धाम
ऐसे श्री कृष्ण भगवान को
मेरा शत शत प्रणाम
हैप्पी जन्माष्टमी

कण कण में है उनका वास
गोपियों संग जो रचाये रास
देवकी यशोदा हैं जिनकी मइया
वो हैं हमारे कृष्ण कन्हैया
कृष्ण जन्माष्टमी की बधाई

Atichari Budh 21 August 2022 : 65 दिन के लिए इन राशियों की बल्ले-बल्ले! अतिचारी बुध कैरियर में लाएंगे उछाल

Janmashtami 19 August 2022 Upay : राशि के हिसाब से होगा कान्हा का श्रृंगार, जानिए क्या कहता है आपकी राशि का रंग

Janmashtami 2022 Date : जन्माष्टमी आज या कल, न हो कंफ्यूजन, यहां जानें सही तारीख, समय और मुहूर्त, पूजा विधि

Janmashtami Bank Holiday 2022 : कल से पूरे देश में लगातार 4 दिन बैंक बंद, चेक करें लिस्ट, नहीं होगा कामकाज
19 August Janmastmi Holiday 2022 : दो दिन बाद स्कूलों में होने वाली है छुट्टी, शिक्षा विभाग का बड़ा आदेश

Janmashtami 2022 Importance of kheera : खीरा ही क्यों काटते हैं नरा के रूप में, जानिए इससे जुड़े तत्थ, इसके बिना क्यों अधूरी है पूजा।

 

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password