Hanuman Janmotsav 2022 : श्री हनुमान जन्मोत्सव आज, इन खास उपायों से बरसेगी बजरंग बली की कृपा, दूर होंगे सारे कष्ट

नई दिल्ली। आज यानि 16 अप्रैल को इस सा​ल 2022 में श्री बजरंग बली का जन्मोत्सव मनाया जा रहा है। Hanuman Janmotsav 2022: वैसे तो श्री बजरंगी बली भी बड़ी आसानी से प्रसन्न हो जाते हैं। लेकिन इस दिन अगर आप उनके मन पसंद की चीजें बनाकर उसका भोग लगाते हैं। तो इससे आप बजरंग बली को प्रसन्न कर सकते हैं।

बेसन के लड्डू –
बेसन के लड्डू बजरंग बली को अत्यंत प्रिय हैं। ऐसे में अगर आप भी उन्हें प्रसन्न करना चाहते हैं। तो आपको ये काम जरूर करना चाहिए।

सिंदूर –
हनुमान जी को सिंदूर चढ़ाने के पीछे भी एक कारण हैं। माता सीता श्रीराम की उम्र बढ़ाने के लिए सिंदूर लगाती थीं। जिसे देखकर श्री हनुमान भी सिंदूर लगाने लगे हैं। मंगलवार और शनिवार के दिन और हनुमान जयंती के दिन उन्हें सिंदूर अर्पित करें।

गेंदे के फूलों की माला –

ऐसी शास्त्रों में मान्यता है कि हनुमान जी को गेंदे के फूलों की माला अत्यंत प्रिय हैं। इसलिए हनुमान जयंती के दिन हनुमान जी के चरणों में गेंदे के फूल की माला अर्पित करें।

लाल कपड़ा –
चूंकि बजरंगबली को लाल रंग बेहद पसंद हैं। जिसके चलते उन्हें हनुमान जयंती के दिन लाल रंग का चोला या कपड़ा जरूर चढ़ाएं।

Hanuman Jayanti 2022: हनुमान जन्मोत्सव पर भूलकर भी न करें ये काम, रुष्ट हो सकते हैं बजरंगबली
हनुमान जन्मोत्सव के दिन हनुमान जी की विधि-विधान के साथ पूजा की जाती है। मान्यता है कि इस दिन बजरंगबली की पूजा करने वाले भक्तों पर उनकी कृपा साल भर बनी रहती है। चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को हनुमान जन्मोत्सव का पावन त्योहार मनाया जाता है। इस साल हनुमान जन्मोत्सव 16 अप्रैल, शनिवार को है। इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से संकटों से मुक्ति मिलने की मान्यता है। मान्यता है कि बजरंगबली दयालु व शक्तिशाली हैं, इनकी कृपा से भक्तों को जीवन में सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। जहां हनुमान जी की कृपा होती है, उस घर में किसी चीज की कमी नहीं रहती है। लेकिन इनकी पूजा में विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। जानें हनुमान जन्मोत्सव पर भक्त किन गलतियों को करने से बचें।

1. चरणामृत –
श्री हनुमान जी की पूजन में चरणामृत का प्रयोग ​वर्जित है। ऐसा करने से अशुभ परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।

2. स्त्रियों का स्पर्श न करें –
चूंकि हनुमान जी बाल ब्रह्यचारी हैं। इसलिए इनकी पूजा करते समय ब्रह्यचर्य व्रत का सख्ती से पालन करना चाहिए। पूजा के दौरान महिलाओं को स्पर्श नहीं करना चाहिए।

3. खंडित मूर्ति घर से निकाल दें –
इनके पूजन में टूटी हुई या खंडित मूर्ति का बिल्कुल इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। घर में हनुमान जी की कटी—फटी तस्वीर है, तो उसे तुरंत हटा दें। मान्यता है कि ऐसा करने से अशुभ फलों की प्राप्ति होती है।

4. काले रंग के वस्त्रों का प्रयोग है वर्जित –
पूजा में ध्यान रखें कि काले या सफेद रंग के कपड़े न पहनें। मान्यता है कि ऐसा करने से अशुभ फलों की प्राप्ति होती है। जहां तक संभव हो पीले या लाल रंग के वस्त्र पहनने चाहिए।

5. सोएं न –
हनुमान जन्मोत्सव पर व्रत रखने वाले भक्तों को दिन में नहीं सोना चाहिए। इसके अलावा दान में मिली चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

6. सूतक काल में न करें पूजा –
इस दिन पूजन में ध्यान रखें कि सूतक काल में हनुमान जी की पूजा नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से पुण्य की प्राप्ति नहीं होती है।

Hanuman Jayanti 2022 SMS : हनुमान जन्मोत्सव पर पवनपुत्र की भक्ति से भरे मैसेज व इमेज भेजकर अपनों को दें बधाई

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password