हमदर्द का अगले पांच साल में कारोबार को 1,000 करोड़ रुपये पर पहुंचाने का लक्ष्य, ईवाई की सेवा ली

नयी दिल्ली, 10 जनवरी (भाषा) साफी और जोशीना जैसे ब्रांड तैयार करने वाली हमदर्द लैबोरेटरीज ने अपनी चिकित्सा इकाई के विस्तार की महत्वकांक्षीय योजना बनायी है। कंपनी ने इस खंड से अगले पांच साल में 1,000 करोड़ रुपये से अधिक के कारोबार का लक्ष्य रखा है।

दिल्ली की कंपनी की फिलहाल इस कारोबार से आय करीब 400 करोड़ रुपये है। कंपनी ने अपनी योजना को हकीकत रूप देने के लिये कार्ययोजना तैयार करने को लेकर वैश्विक पेशवर सेवा संगठन ईवाई की सेवायें लीं हैं।

हमदर्द लैबोरेटरीज (औषधि विभाग) के चेयरमैन अब्दुल माजीद ने ‘पीटीआई-भाषा’ से बातचीत में कहा, ‘‘हम जिस श्रेणी में काम कर रहे हैं, उसमें बाजार में अगुवा है। हमने क्षेत्र में विस्तार के इरादे से बाजार रणनीति को और कारगर तथा प्रभावी बनाने के लिये ईवाई को जोड़ा है।’’

उन्होंने कहा कि कंपनी के उत्पादों की संख्या करीब 450 है और इसमें कुछ पेटेंट वाले भी हैं। ‘‘हम ब्रांड श्रेणी का विस्तार करने पर गौर कर रहे हैं। साथ ही हमारी योजना छोटे शहरों एवं ग्रामीण इलाकों में विस्तार की है।’’

एक सवाल के जवाब में माजीद ने कहा ‘‘ईवाई हमें बाजार रणनीति तैयार करने में मदद कर रही है। इस रणनीति के जरिये हम अपना कारोबार मौजूदा 400 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 1,000 करोड़ रुपये से अधिक कर सकेंगे।’’

उन्होंने कहा कि ईवाई की रणनीति के आधार पर, रूपरेखा अगले 2-3 महीनों में आ जाने की उम्मीद है। कंपनी भविष्य की वृद्धि के लिये संसाधन का आबंटन करेगी।

हमदर्द यूनानी पद्धति से इलाज में उपयोगी दवाओं का प्रमुख विनिर्माता है।

माजीद ने कहा कि कंपनी वैश्विक मानकों के अनुरूप उत्पाद तैयार करने के लिये 375 करोड़ रुपये के निवेश से नया संयंत्र लगा सकती है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम संयंत्र लगाने को लेकर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र/दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में जगह देख रहे हैं।’’

कंपनी की दवा इकाई के फिलहाल मानेसर (हरियाणा), ओखला (दिल्ली) और गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश) में संयंत्र हैं।

भाषा

रमण महाबीर

महाबीर

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password