हैडिन ने रहाणे की ‘शानदार’ कप्तानी की तारीफ की

सिडनी, 12 जनवरी (भाषा) ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर ब्रैड हैडिन ने तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में ऋषभ पंत को बल्लेबाजी के लिए पहले भेजने की रणनीति को ‘शानदार’ करार देते हुए भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे की तरीफ की।

पंत को मैच के पांचवें दिन हनुमा विहारी से पहले पांचवें क्रम पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया। उन्होंने दवाब की स्थिति में 97 रन की बेहतरीन पारी खेली और वह जब क्रीज पर थे, तब भारत के जीतने की उम्मीद बढ़ गयी थी। भारतीय बल्लेबाजों ने इस मैच में शानदार जुझारूपन दिखाया, जिससे मैच ड्रा रहा और चार मैचों की श्रृंखला अभी 1-1 की बराबरी पर है।

हैडिन ने ‘सेन रेडियो’ पर कहा, ‘‘ भारतीय टीम कल जैसा खेली उससे वे मैच को सिर्फ ड्रा करा सकते थे लेकिन पंत को लेकर रहाणे की रणनीति शानदार रही। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ अगर आप इस पर गौर करेंगे तो रहाणे ने पंत को मैच को आगे बढ़ने के लिए भेजा था और पंत ने वही काम किया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ पंत ने दिलेरी से बल्लेबाजी की और कप्तान के तौर पर टिम पेन को कुछ ऐसे फैसले लेने पर मजबूर किया जो मुझे लगता है कि रणनीतिक तौर पर गलत थे।’’

हैडिन ने कहा, ‘‘ फिर विहारी क्रीज पर आये और वह पुजारा के जैसे खिलाड़ी है। उन्होंने अपना काम बाखूब ही किया।’’

इस 43 साल के पूर्व खिलाड़ी ने भारतीय टीम के जूझारूपन और जज्बे की तारीफ की।

उन्होंने कहा, ‘‘ कप्तान के तौर पर रहाणे ने अभी तक एक भी मैच नहीं गंवाया है, वह बहुत बहादुर है कि उन्होंने कल एक मौका लिया। मुझे लगता है कि वह लक्ष्य काफी बड़ा था लेकिन फिर भी रहाणे ने एक मौका लिया।’’

भारतीय टीम के कई सीनियर खिलाड़ियों के बिना मैदान में उतरी थी। मैच के दौरान पंत, रविचंद्रन अश्विन, रविन्द्र जडेजा और विहारी चोटिल हो गये फिर भी टीम मैच ड्रा करने में सफल रही।

हैडिन ने कहा, ‘‘ इस भारतीय टीम ने शानदार जज्बा दिखाया। उनके कई खिलाड़ी चोटिल हुए, वे अपने नियमित कप्तान के बिना है, उनके तीन मुख्य तेज गेंदबाज नहीं है, जडेजा का अंगूठा टूट गया। उन्होंने शानदार जज्बा दिखाया।’’

भाषा आनन्द मोना

मोना

Share This

0 Comments

Leave a Comment

हैडिन ने रहाणे की ‘शानदार’ कप्तानी की तारीफ की

सिडनी, 12 जनवरी (भाषा) ऑस्ट्रेलिया के पूर्व विकेटकीपर ब्रैड हैडिन ने तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में ऋषभ पंत को बल्लेबाजी के लिए पहले भेजने की रणनीति को ‘शानदार’ करार देते हुए भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे की तरीफ की।

पंत को मैच के पांचवें दिन हनुमा विहारी से पहले पांचवें क्रम पर बल्लेबाजी के लिए भेजा गया। उन्होंने दवाब की स्थिति में 97 रन की बेहतरीन पारी खेली और वह जब क्रीज पर थे, तब भारत के जीतने की उम्मीद बढ़ गयी थी। भारतीय बल्लेबाजों ने इस मैच में शानदार जुझारूपन दिखाया, जिससे मैच ड्रा रहा और चार मैचों की श्रृंखला अभी 1-1 की बराबरी पर है।

हैडिन ने ‘सेन रेडियो’ पर कहा, ‘‘ भारतीय टीम कल जैसा खेली उससे वे मैच को सिर्फ ड्रा करा सकते थे लेकिन पंत को लेकर रहाणे की रणनीति शानदार रही। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ अगर आप इस पर गौर करेंगे तो रहाणे ने पंत को मैच को आगे बढ़ने के लिए भेजा था और पंत ने वही काम किया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ पंत ने दिलेरी से बल्लेबाजी की और कप्तान के तौर पर टिम पेन को कुछ ऐसे फैसले लेने पर मजबूर किया जो मुझे लगता है कि रणनीतिक तौर पर गलत थे।’’

हैडिन ने कहा, ‘‘ फिर विहारी क्रीज पर आये और वह पुजारा के जैसे खिलाड़ी है। उन्होंने अपना काम बाखूब ही किया।’’

इस 43 साल के पूर्व खिलाड़ी ने भारतीय टीम के जूझारूपन और जज्बे की तारीफ की।

उन्होंने कहा, ‘‘ कप्तान के तौर पर रहाणे ने अभी तक एक भी मैच नहीं गंवाया है, वह बहुत बहादुर है कि उन्होंने कल एक मौका लिया। मुझे लगता है कि वह लक्ष्य काफी बड़ा था लेकिन फिर भी रहाणे ने एक मौका लिया।’’

भारतीय टीम के कई सीनियर खिलाड़ियों के बिना मैदान में उतरी थी। मैच के दौरान पंत, रविचंद्रन अश्विन, रविन्द्र जडेजा और विहारी चोटिल हो गये फिर भी टीम मैच ड्रा करने में सफल रही।

हैडिन ने कहा, ‘‘ इस भारतीय टीम ने शानदार जज्बा दिखाया। उनके कई खिलाड़ी चोटिल हुए, वे अपने नियमित कप्तान के बिना है, उनके तीन मुख्य तेज गेंदबाज नहीं है, जडेजा का अंगूठा टूट गया। उन्होंने शानदार जज्बा दिखाया।’’

भाषा आनन्द मोना

मोना

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password