Gwalior News: ग्वालियर हवाई अड्डे पर विमान हुआ था दुर्घटनाग्रस्त, वरिष्ट पायलेट का लासेंस किया रद्द

भोपाल। विमानन सुरक्षा नियामक डीजीसीए ने इस साल मई में ग्वालियर हवाई अड्डे पर विमान दुर्घटनाग्रस्त होने पर मध्यप्रदेश सरकार के एक वरिष्ठ पायलट का उड़ान लाइसेंस एक साल के लिए निलंबित कर दिया है। प्रदेश सरकार का यह विमान छह मई को एंटीवायरल दवा रेमडेसिवीर की खेप गुजरात से ग्वालियर ला रहा था और तब ग्वालियर हवाई अड्डे पर यह दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इस हादसे की जांच नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने की और पिछले सप्ताह पत्र जारी कर विमान के पायलट कैप्टन सैयद माजिद अख्तर (56) का उड़ान लाइसेंस को एक साल के लिए निलंबित कर दिया। इस दुर्घटना में नए खरीदे गए विमान का कॉकपिट फ्रंट, प्रोपेलर ब्लेड, प्रोपेलर हब और पहियों को बड़ा नुकसान हुआ था। विमान हवाई पट्टी पर उतरने के दौरान फिसल कर एक तरफ पलट गया था। इसमें अख्तर और उनके सह पायलट शिव जायसवाल और एक अन्य अधिकारी घायल हो गए थे। पत्र में कहा गया है कि डीजीसीए ने एक जुलाई को अख्तर को कारण बताओ नोटिस जारी किया था लेकिन उनके द्वारा दिया गया स्पष्टीकरण संतोषजनक नहीं पाया गया।

मानवीय त्रुटि के कारण हुआ हादसा

इसमें कहा गया कि हादसा एक मानवीय त्रुटि के कारण हुआ था और डीजीसीए ने नोट किया कि उनके कार्यों से न केवल विमान की सुरक्षा को खतरे में डाल दिया बल्कि विमान नियमों का भी उल्लंघन किया। प्रदेश के उड्डयन विभाग के सूत्रों ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने पिछले साल ही अमेरिकी कंपनी टेक्सट्रॉन एविएशन से सात सीटों वाला बीचक्राफ्ट किंग एयर बी-200 विमान 65 करोड़ रुपए से अधिक में खरीदा था। उन्होंने कहा कि क्योंकि हादसे के समय विमान का बीमा नहीं किया गया था इसलिए इसे स्क्रैप कर दिया गया है। यह कथित रुप से रखरखाव और मरम्मत नहीं होने के कारण ग्वालियर एयरबेस पर तीन महीने से अधिक समय से रखा है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password