Gwalior News: ग्वालियर में बच्चों की बिगड़ रही तबीयत, 170 से ज्यादा अस्पताल में भर्ती, एक ही बेड पर हो रहा 3-3 का इलाज

प्रहलाद सेन, ग्वालियर। प्रदेश में मौसम में उतार-चढ़ाव का सिलसिला जारी है। कभी बारिश तो कभी तेज धूप निकल रही है। ग्वालियर में उमस भरी गर्मी भी लगातार पड़ रही है। यह गर्मी स्वास्थ्य के लिए जानलेवा साबित हो रही है। ग्वालियर जिले में इन दिनों वायरल जनित बीमारियां अपना असर दिखा रही हैं। इनसे बच्चे भी अछूते नहीं हैं। कमलाराजा अस्पताल के पीडियाट्रिक वॉर्ड में क्षमता से 170 अधिक बच्चे भर्ती हुए हैं। यहां एक बेड पर तीन-तीन बच्चों का इलाज करना पड़ रहा है। ग्वालियर के जयारोग्य चिकित्सालय की ओपीडी इलाज के लिए पहुंचे लोगों की संख्या लगातार दूसरे दिन 3200 के पार रही। इनमें 188 बच्चे शामिल हैं। डॉक्टरों के अनुमान के मुताबिक शहर में एक हजार से अधिक बच्चे बीमार हैं। इनमें से 70 से 80% वायरल की चपेट में हैं। इतना ही नहीं अस्पताल के एक ही बेड पर 3-3 बच्चों को भर्ती करना पड़ रहा है।

वहीं जिले के स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनीष शर्मा का कहना है कि यह वायरल फीवर है। लेकिन यह सही बात है कि एकदम से तेजी आई है। फिर भी डरने की कोई बात नहीं है। क्योंकि अभी तक किसी भी तरह के कोई खतरनाक लक्षण बच्चों में पाएं नहीं जा रहे हैं। इसलिए कोई टेंशन की बात नहीं। बता दें कि प्रदेश समेत पूरे देश में कोरोना की तीसरी लहर का खतरा मंडरा रहा है। इसको लेकर लगातार चेतावनी भी दी जा रही है। वहीं अनुमान लगाया जा रहा था कि तीसरी लहर में बच्चों को काफी असर देखने को मिल सकता है। हालांकि तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार ने तमाम प्रयास करने शुरू कर दिए हैं।

5 करोड़ लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन…
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण का कार्य लगातार जारी है तथा बुधवार को प्रदेश में टीकाकरण का आंकड़ा पांच करोड़ को पार कर गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि महामारी को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए प्रदेश में टीकाकरण अभियान को सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ संचालित किया जा रहा है। उन्होंने 17 सितंबर के ‘टीकाकरण महाअभियान’ में सभी वर्गों से पहले की तरह सक्रिय सहयोग करने का आग्रह किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के शत-प्रतिशत लोगों को टीके की पहली खुराक देने के लक्ष्य को पाने के बाद दूसरी खुराक कम से कम समय में लगाने का हमारा प्रयास जारी रहेगा। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की प्रबंध संचालक प्रियंका दास ने बताया कि टीकाकरण महाअभियान में पांच करोड़ से अधिक टीके लगाने का रिकॉर्ड बना है। बुधवार शाम पांच बजे तक कुल 5 करोड़ 69 हजार 857 खुराकें दी गई हैं। इनमें 4 करोड़ 6 लाख 90 हजार 4 लोगों को पहली खुराक और 93 लाख 79 हजार 853 लोगों को दूसरी खुराक दी गई है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password