Guru Pushya Nakshatra 2021 : पुष्य नक्षत्र कल, दिनभर बनने वाले 5 योग होंगे खास, 1961 के बाद का ऐसा मौका

pushya nakshatra

नई दिल्ली। कल यानि 28 अक्टूबर Guru pushya nakshatra 2021 को पुष्य नक्षत्र है। दीपावली के आते ही Guru pushya nakshatra sayog for shopping खरीदारी के लिए तैयारियां शुरू हो जाती है और इंतजार होता है शुभ मुहूर्त का। दीपावली के पहले खरीदारी के लिए खास माना जाने वाला पुष्य नक्षत्रा गुरू पुष्य का विशेष योग लेकर आ रहा है। 28 अक्टूबर को सूर्योदय के साथ पुष्य नक्षत्र शुरू हो जाएगा। जो कि अगले दिन सुबह करीब 7.45 तक रहेगा। गुरुवार को दिनभर 5 विशेष योग भी बन रहे हैं। जो करीब 60 वर्ष ऐसा मौका ला रहे हैं।

इस बार मुहूर्त और अधिक खास होने वाला है। क्योंकि इस समय बनने वाला योग पूरे 60 वर्ष बाद बन रहा है। ज्योतिषविदों का कहना कि ग्रह गोचर में पुष्य नक्षत्र के स्वामी और उपस्वामी की युति लगभग 60 साल बाद बन रही है। इससे पहले साल 1961 में ये दुर्लभ संयोग बना था।
आइए हम आपको बताने वाले हैं इसका शुभ समय क्या है और इस दौरान किसे क्या चीजें खरीदनी चाहिए। ज्योतिषाचार्यों की मानें तो शनि-गुरु की युति में आ रहा दिवाली से पहले का यह खरीदारी का योग इस मुहूर्त को खास बना रहा है। जी हां 28 अक्टूबर को मकर राशि में शनि-गुरु की युति रहेगी और पुष्य नक्षत्र की शुभता को बल मिलेगा। इस दौरान नई वस्तुओं की खरीदारी करने से घर में शुभता बढ़ेगी।

पांच विशेष योग और ग्रहों की ये स्थिति होगी खास
ज्योतिषाचार्य पंडित सनत कुमार खम्परिया के अनुसार 28 अक्टूबर, गुरुवार को पुष्य नक्षत्र होने से शुभ लाभ के रहेंगे। इतना ही नहीं इसके साथ बनने वाला सूर्य-चंद्रमा साध्य और रवियोग इसे और अधिक खास बना रहा है। इसी के साथ सर्वार्थसिद्धि और अमृतसिद्धि योग भी रहेगा। इसके साथ ही चंद्रमा और बृहस्पति का दृष्टि संबंध होने से गजकेसरी नाम का राजयोग भी बन रहा है। इस तरह तिथि, वार, नक्षत्र और ग्रहों की विशेष स्थिति के कारण दिनभर में 5 शुभ योग बनेंगे।

इन चीजों की करें खरीदारी
गुरुवार का दिन होने से इस योग में पोषण संबंधी चीजों की खरीदारी शुभ मानी जा रही है। गुरु-पुष्य योग में औषधियां और खाने-पीने की चीजें खरीदना चाहिए। शुभ और नए कामों की शुरुआत करना इस दिन शुभ माना जाता है। निवेश, भौतिक सुख-सुविधा की चीजें खरीदना, प्रॉपर्टी, वाहन, अग्नि, शक्ति-ऊर्जा बढ़ाने वाली चीजें और सोने एवं तांबे से बनी चीजों की खरीदारी करना बहुत शुभ है।

शनि-गुरु की युति से बने गुरु पुष्य नक्षत्र में घर, जमीन सोने चांदी के गहने या सिक्के, टू व्हीलर या फोर व्हीलर, इलेक्ट्रानिक्स आइटम्स, लकड़ी या लोहे का फर्नीचर, कृषि से जुड़ा सामान, पानी या बोरिंग की मोटर, बीमा पॉलीसी, म्यूचल फंड या शेयर मार्केट में निवेश करने वालों को लाभ होने वाला है।

इसलिए खास मानते हैं पुष्य नक्षत्र (Pusya nakshatra sayog for shopping)
ज्योतिष शास्त्र में सभी नक्षत्रों में पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों का राजा माना जाता है। अगर ऐसे में यदि इस नक्षत्र पर शनि और गुरु की विशेष कृपा हो जाए तो यह बेहद शुभ हो जाता है। चूंकि शनि को शक्ति और ऊर्जा का कारका माना जाता है तो वहीं गुरु, ज्ञान और धन के देवता हैं। चूंकि इस साल यह पुष्य नक्षत्र गुरुवार के दिन आ रहा है। इस दिन इसी पुष्य नक्षत्र विराजमान शनि और गुरु दोनों एक साथ मकर राशि में विराजमान होंगे। रहेंगे।

आप भी जान लें कहां निवेश करने से होगा लाभ

ज्योतिषाचार्यों की मानें तो शनि-गुरु की युति व्यापार, उद्योग और कार्यक्षेत्र में शुभ फल दिलाएगी। अगर आप बीमा पॉलिसी, वाहन, विभिन्न प्रकार की योजनाओं में निवेश करते हैं या फिर आपका व्यापार लोहा, सीमेंट, ऑयल कंपनी, कपड़ा, लकड़ी और इलेक्ट्रानिक्स से जुड़ा है तो लाभ हो सकता है। मेडिकल साइंस व शिक्षा से जुड़े लोगों को बृहस्पति की अनुकंपा से सफलता मिल सकती है।

बहीखाते खरीदना होता है शुभ
चूंकि पुष्य नक्षत्र में हिंदू धर्म के अनुसार किसी नए काम की शुरुआत शुभ मानी जाती है। यही कारण है कि इस दिन बहीखाते और कलम-दवाद खरीदना शुभ होता है। काम-काज में शुभता बढ़ेगी। बहीखाते या कलम-दवात खरीदने के बाद इनकी विधिवत पूजा करना चाहिए। धार्मिक पुस्तके खरीदना भी शुभ होता है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password