guna black deer case:3 पुलिसवालों के हत्यारों ने पुलिस को चकमा देकर कोर्ट में किया सरेंडर,देखती रह गई पुलिस

guna black deer case:3 पुलिसवालों के हत्यारों ने पुलिस को चकमा देकर कोर्ट में किया सरेंडर,देखती रह गई पुलिस

guna black deer case

Guna:मध्यप्रदेश के गुना(guna black deer case) जिले में हुए काले हिरण मामले में काले हिरण शिकार मामले में 2 आरोपियों ने सरेंडर कर दिया है।आपको बता दें आरोपी विक्की और गुल्लू खान ने किया कोर्ट में सरेंडर प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट में सरेंडर किया है।गौरतलब हो कि हमले में 3 पुलिसकर्मी  शहीद हुए थे।आपको बता दें कि पुलिस ने कोर्ट में पहुंचने से पहले आरोपियों को पकड़ने की तैयारी की थी लेकिन आरोपियों ने पुलिस को चकमा देकर न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी मुनेंद्र सिंह वर्मा के कोर्ट में किया सरेंडर कर दिया।

क्या है मामला-guna black deer case

मध्य प्रदेश के गुना जिले में काले हिरण के शिकारियों ने 3 पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। जवाबी कार्रवाई में मुठभेड़ के दौरान एक शिकारी मारा गया। वहीं घटना की देर शाम एक और आरोपी का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया था। कुल 8 आरोपियों में से अब तक 2 मारे जा चुके हैं। 2 गिरफ्तार कर लिए गए और बाकी 4 की तलाश जारी है। सोमवार को पुलिस ने आरोपी नौशाद के पिता को सबूत मिटाने के आरोप में अरेस्ट कर लिया।

सबसे पहले इस घटना के कारण की बात करते हैं। दरअसल बिदोरिया गांव के नौशाद के घर भतीजी की शादी थी। बारात में तमाम खास मेहमान आने थे और उनको लजीज पकवान खिलाने की तैयारी हुई। बारातियों को काले हिरण का मांस भी परोसा जाना था। इसी के लिए नौशाद अपने भाई शहबाज समेत अन्य परिजनों के साथ शहरोक-मौनबाड़ा के जंगल पहुंचा। क्योंकि वह इस इलाके से वाकिफ था। गुना के आरोन थाना इलाके में आने वाले इस जंगल में शनिवार तड़के उन्होंने 4 काले हिरण, एक मादा हिरण और एक मोर का शिकार कर लिया।

वन्य जीवों के शिकार किए जाने की खबर पर स्थानीय थाने के पुलिसकर्मी जंगल पहुंचे। जहां रात के अंधेरे में उनकी शिकारियों से मुठभेड़ हो गई। दोनों तरफ से हुई फायरिंग में एसआई राजकुमार जाटव, कॉन्स्टेबल नीरज भार्गव और संतराम मीणा मौके पर ही शहीद हो गए। वहीं हमले में एक जवान और गाड़ी का ड्राइवर घायल हो गए।

गुना एसपी राजीव कुमार मिश्रा के मुताबिक, रात को हुई इस मुठभेड़ में एक आरोपी नौशाद गोली लगने से घायल हो गया। साथी शिकारी उसे अपने साथ बिदौरिया गांव ले गए। उधर, सूचना मिलते ही पुलिस ने राघौगढ़ जिले के इस गांव को घेर लिया था। सर्च ऑपरेशन चलाया तो एक घर से मुठभेड़ में घायल हुए नौशाद की लाश बरामद हुई। इसी के कुछ देर बाद दूसरे प्रमुख आरोपी शहबाज को भी पुलिस टीमों ने एनकाउंटर में मार गिराया।

पुलिस ने डाला डेरा, गांव में पसरा सन्नाटा-guna black deer case
इस कांड के बाद बड़ी तादाद में पुलिसकर्मियों ने बिदौरिया गांव में डेरा डाल लिया है। आरोपियों के परिजन समेत दूसरे लोग अपने-अपने घर छोड़कर भाग निकले हैं। पूछताछ के लिए कई रिश्तेदारों और परिजनों को पुलिस ने उठा लिया है। वहीं, आरोपियों के परिवार में होने वाली शादियां नहीं हो पाईं। उधर, प्रशासन ने एक्शन लेते हुए पांच आरोपियों के घर गिरा दिए हैं।

एनकाउंटर की कहानी शुरू
पुलिस कप्तान राजीव कुमार मिश्रा ने बताया, पूरे घटनाक्रम में 2 आरोपी जिया खान और सोनू खान को हिरासत में लिया गया था। पूछताछ के लिए आरोपियों को घटनास्थल पर ले जाया जा रहा था, जिसके बाद दोनों को कोर्ट में पेश करना था। इसी बीच जिया खान ने पुलिस वाहन की स्टीयरिंग को पकड़ लिया, जिससे गाड़ी सड़क किनारे खाई में जा गिरी। गाड़ी फंसते ही दोनों बदमाश युवक भागने लगे। पुलिस टीम ने मालोनी के जंगल में भागते आरोपियों का पीछा किया और रुकने की चेतावनी दी। जब बदमाश नहीं माने तो उनके दाहिने पैरों में गोली मार दी गई। जिन्हें उपचार के बाद कोर्ट में पेश किया जाएगा।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password