GSAT-24 Satellite: 4180 किलोग्राम वजन की क्षमता वाले जीसैट-24 का सफल परीक्षण

GSAT-24 Satellite: 4180 किलोग्राम वजन की क्षमता वाले जीसैट-24 का सफल परीक्षण, जानें क्या है पूरी खबर

Share This

बेंगलुरू। GSAT-24 Satellite भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा अपनी वाणिज्यिक शाखा न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (NSIL) के लिए बनाए गए संचार उपग्रह जीसैट-24 का फ्रेंच गुयाना (दक्षिण अमेरिका) के कोउरू से बृहस्पतिवार को सफल प्रक्षेपण किया गया।

जानें पूरी जानकारी

जीसैट-24 एक 24-केयू बैंड वाला संचार उपग्रह है, जिसका वजन 4180 किलोग्राम है। यह ‘डीटीएच’ संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए अखिल भारतीय कवरेज मुहैया कराएगा। एनएसआईएल ने उपग्रह की पूरी क्षमता ‘टाटा प्ले’ को लीज पर दी है। बता दें कि, अबतक 25 भारतीय सैटेलाइट लॉन्च हुए हैं. एरियनस्पेस ने 11 जीसेट-24 सैटेलाइट्स अब तक लॉन्च किये हैं. जीसैट सीरीज का यह 11वां सैटेलाइट है. ये संचार के काम में आता है।

30 जून को करेगा मिशन शुरू

आपको बताते चलें कि, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने बीते दिन बुधवार को कहा कि वह 30 जून को अपनी वाणिज्यिक शाखा न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) के दूसरे समर्पित वाणिज्यिक मिशन ‘पीएसएलवी-सी53’ की शुरुआत करेगा जो सिंगापुर के तीन उपग्रहों को लेकर जाएगा। बता दें कि, प्रक्षेपण के लिए 25 घंटे की उलटी गिनती 29 जून को शाम पांच बजे से शुरू होगी यह पीएसएलवी का 55वां मिशन होगा और पीएसएलवी-कोर अलोन वैरिएंट का उपयोग करते हुए 15वां मिशन तथा दूसरे लॉन्च पैड से 16वां पीएसएलवी प्रक्षेपण होगा।

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password