Gramoday Abhiyan Dhar : धार से ग्रामोदय अभियान शुरू, सीएम बोले, कोई गरीब कच्चे मकान में नहीं रहेगा

 

धार। सीएम शिवराज और केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने Gramoday Abhiyan Dhar ग्रामोदय अभियान की शुरुआत की। इस अवसर पर ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया भी मौजूद रहे। वहीं धार की विधायक और सांसद भी उपस्थित रहे। नरेंद्र सिंह तोमर ने रिमोट का बटन दबाकर वर्चुअली सवा लाख लोगों को गृहप्रवेश कराया। साढ़े दस हजार से ज्यादा सामुदायिक भवनों का भी लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि आवास देने के मामले में देश में मध्यप्रदेश सबसे आगे है। उन्होंने सीएम शिवराज की जमकर तारीफ की। साथ उन्होंने ये भी कहा कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की गई थी। अब उसका विस्तार देश में किया जाएगा। मध्यप्रदेश के सभी जिलों में इसे लागू किया जाएगा।

राहत दिलाई जाएगी
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रामोदय योजना के तहत 1, 25000 लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गृह प्रवेश कवाया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि पूर्व की कमलनाथ सरकार पैसा नहीं है पैसा नहीं है का रोना रोया। सीएम बने हैं तो पैसा तो लाना पड़ेगा। यह काम मैंने किया। 86 हजार करोड़ रुपए लोगों के खाते में भाजपा सरकार ने डाले। 23 मार्च दो हजार करोड़ रु राहत के किसानों के खाते में डाले जाएंगे। किसानों को चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। राहत दिलाई जाएगी।

महाराजा भोज की प्रतिमा का अनावरण किया
मुख्यमंत्री ने आज धार में महाराजा भोज की प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री ने उद्यान और धार हाट बाजार सहित विभिन्न विकास कार्यों का भी लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि छोटी पूंजी वालों को 10 हजार देने का काम हम कर रहे हैं। 25 तारीख से खरीद शुरू हो रही है। खरीदी, ठीक दाम देना भी जारी रहेगा, हर एक के चेहरे पर मुस्कुराहट लाना है। इसके लिए सरकार काम कर रही है। मप्र सरकार इसमें कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

मध्यप्रदेश को नंबर एक राज्य बना दें
10% आरक्षण सामान्य गरीबों का भी दूंगा, 27 % ओबीसी, मैंने सवर्ण आयोग बनाने का भी फैसला किया है। हर साल 1 लाख बच्चों को अलग-अलग रोजगार देने का काम हम करेंगे, सरकारी, गैर सरकारी हर क्षेत्र में हम रोजगार देने का काम हम कर रहे। उन्होंने कहा कि गरीब, किसान, मध्यमवर्गीय को चाहिए अच्छी शिक्षा मिले। इसके लिए हमने बजट में 1500 करोड़ का प्रावधान किया है। 3 साल में 900 स्कूल खोलने का काम करेंगे। लक्ष्य एक ही है मध्यप्रदेश को नंबर एक राज्य बना दें।

मप्र की धरती पर कोई व्यक्ति ऐसा नहीं होगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने एक और चीज शुरू की है वह है मप्र की धरती पर कोई व्यक्ति ऐसा नहीं होगा, जिसके पास अपनी जमीन ना हो घर बनाकर रहने की 20 से 25 किमी के बीच में सीएम राइज स्कूल खोला जाएगा, भव्य बिल्डिंग ,लाइब्रेरी, प्रयोगशाला, ​बच्चों को लाने-ले जाने बस की व्यवस्था होगी। बस स्टैंड भी बनेगा, पीथमपुर में कॉलेज की बिल्डिंग बनेगी। एक योजना स्वामित्व योजना, अब फैसला किया है कि गांव की जमीन का भी सर्वे करके वहां अधिकार पत्र दिया जाएगा, स्वामित्व दिया जाएगा, ताकि बैंक उस पर लोन दे सके।

संबल योजना फिर शुरू हो गई

मुख्यमंत्री ने कहा कि नर्मदा जी से पानी लाने का काम हमने किया। हम फिर से सर्वे करवाएंगे, तकनीकी रूप से जहां-जहां पानी पहुंचाया जा सकता है हम पानी पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। अब भी 2 लाख 42 हजार का बजट बनाया है। हर गरीब का इलाज होगा, कोई बिना इलाज के नहीं रहेगा। इसकी लोगों को जरूरत है। हमने हर वर्ग के लिए योजना बनाई है। दो बेटे-बेटियों तक जन्म देने के पहले 4 हजार, जन्म देने के बाद 12 हजार पोषण आहार के ​दिए जाएंगे। संबल योजना फिर शुरू हो गई।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password