Delhi News: सरकार का GST कलेक्शन पिछले साल से 10 प्रतिशत बढ़ा

Delhi News: सरकार का GST कलेक्शन पिछले साल से 10 प्रतिशत बढ़ा, 10वीं बार मंथली कलेक्शन 1.5 लाख करोड़ के पार

delhi-news
Share This

Delhi News: सरकार ने दिसंबर-2023 में GST से करीब 1.65 लाख करोड़ रुपए जुटाए हैं। यह आंकड़ा पिछले साल यानी दिसंबर 2022 के मुकाबले 10 प्रतिशत ज्यादा है। बता दें कि सरकार ने पिछले साल GST से 1.49 लाख करोड़ रुपए जुटाए थे। तो वहीं नवंबर में (जीएसटी) से 1.67 लाख करोड़ रुपए जुटाए थे।

ये लगातार 10वीं बार ऐसा हुआ है, कि कलेक्शन रेवेन्यू 1.5 लाख करोड़ से बढ़कर रहा है। हालांकि अब तक GST कलेक्‍शन सबसे ज्यादा अप्रैल 2023 में हुआ, तब ये आंकड़ा 1.87 लाख करोड़ रुपयों को पार कर गया था। जिसके बाद से 21 महीने से लगातार देश का (जीएसटी) कलेक्‍शन 1.4 लाख करोड़ रुपए से ऊपर बना हुआ है।

CGST 30 हजार करोड़ से अधिक रहा

वित्त मंत्रालय के मुताबिक (Delhi News)2023 दिसंबर महिने में GST कलेक्शन ₹1.65 लाख करोड़ रुपए रहा। जिसमें CGST 30,443 करोड़ रुपए रहा तो वहीं  SGST 37,935 करोड़ रुपए रहा औक IGST 84,255 करोड़ रुपए (माल के आयात पर कलेक्ट किए गए 41,534 करोड़ रुपयों सहित) और साथ ही सेस 12,249 करोड़ रुपए रहा। जिसमें सेस के माल द्वारा आयात से मिले 1,079 करोड़ रुपये शामिल हैं।

संबंधित खबर : GST Notice to Swiggy-Zomato: एक्स्ट्रा डिलीवरी चार्ज लेना स्विगी और जोमैटो को पड़ा भरी, जानिए पूरा मामला

फाइनेंशियल ईयर 2024 में  इतना कलेक्शन

2023-24 फाइनेंशियल ईयर यानी बीते 9 महीनों में अब तक का टोटल 14.97 लाख करोड़ रुपए का जीएसटी कलेक्शन हुआ है। तो वहीं पिछले 2022-23 में टोटल 18.10 लाख करोड़ रुपयों का (GST) कलेक्शन हुआ था।

महाराष्ट्र GST कलेक्शन में सबसे आगे

टॉप-3 राज्यों में महाराष्ट्र GST कलेक्शन के लिहाज से दिसंबर 2023 में सबसे ऊपर है। पिछले साल की तुलना में महाराष्ट्र में GST कलेक्शन 14 प्रतिशत से बढ़कर 23,598 करोड़ रुपए रहा। इसके साथ ही 10,061 करोड़ के कलेक्शन के साथ कर्नाटक दूसरे और 9,238 करोड़ के कलेक्शन के साथ गुजरात तीसरे नंबर पर है।

संबंधित खबर : MPSC Recruitment 2023: महाराष्ट्र में प्रिंसिपल-वाइस प्रिंसिपल के पदों पर भर्ती, 56 हज़ार मिलेगी सैलरी

कब लागू हुआ था GST

बता दें कि 2017 में लागू हुआ था। जो कि एक इनडायरेक्ट टैक्स है। इसे (VAT) वैराइटी ऑफ प्रीवियस इनडायरेक्ट टैक्स, परचेज टैक्स, सर्विस टैक्स,  एक्साइज ड्यूटी और कई तरह के इनडायरेक्ट टैक्सों को रिप्लेस करने के लिए सन् 2017 में लागू किया गया। GST में चार स्लैब हैं, जो कि 5, 12, 18 और 28% के हैं। (Delhi News)

ये भी पढ़ें :

 Bijapur Naxal Encounter: नक्‍सली मुठभेड़ के दौरान क्रॉस फायरिंग, 6 साल की बच्ची की मौत, मां और 2 जवान भी घायल

Top Hindi News Today: MP सरकार ने डिंडोरी के एसपी संजीव कुमार सिन्हा को गुना का एसपी बनाया, केंद्र ने गोल्डी बराड़ को आतंकी घोषित किया

Mahakal Temple: नए साल पर टूटा सिंहस्थ का रिकॉर्ड, 6 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किए महाकाल के दर्शन

Hit And Run Law: राजधानी में वाहन चालकों की हड़ताल से स्कूलों में छुट्‌टी घोषित

Puri News: जगन्नाथ मंदिर में लागू हुआ नया ड्रेस कोड, स्कर्ट और फटी जींस पर लगी रोक

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password