Mandatory 6 Airbags in M1 vehicles: अक्टूबर से आठ यात्रियों वाले वाहन में अनिवार्य होंगे छह एयरबैग

नई दिल्ली। इस साल अक्टूबर से आठ यात्रियों वाले वाहन में कम से कम छह एयरबैग अनिवार्य होंगे Mandatory 6 Airbags in M1 vehicles। मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवेज ने यह घोषणा करते हुए कहा कि यह कदम यात्रियों की सुरक्षा के लिए उठाया जा रहा है। मंत्रालय ने बयान में कहा कि वाहन में सवार यात्रियों की सुरक्षा को बेहतर करने के लिए सेंट्रल मोटर वेहिकल्स रूल्स (सीएमवीआर) 1989 में संशोधन कर सुरक्षा फीचर्स को बढ़ाने का फैसला किया गया है।

एक अक्टूबर से बनने वाले वाहनों पर लागू होगा फैसला

14 जनवरी की तारीख में जारी ड्राफ्ट नोटिफिकेशन के मुताबिक यह फैसला एम1 श्रेणी की गाड़ियों के लिए किया गया है।  इस श्रेणी में 5-8 सीट वाली कारें शामिल हैं।  नोटिफिकेशन के अनुसार एक अक्टूबर 2022 से बनने वाले एम1 श्रेणी के वाहनों में छह एयरबैग लगाना अनिवार्य होगा। दुर्घटना की स्थिति में एयरबैग एक कवच के रूप में काम करता है और ड्राइवर को डैशबोर्ड से टकराने में बचाता है।

नितिन गडकरी ने ट्वीट के माध्यम से दी जानकारी

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कई ट्वीट कर बताया कि ड्राइवर की सीट पर एयरबैग को एक जुलाई 2019 से अनिवार्य किया गया है। वहीं आगे ड्राइवर के साथ वाली सीट के लिए एयरबैग को एक जनवरी 2022 से अनिवार्य किया गया है। गडकरी ने कहा,‘‘आठ यात्रियों वाले वाहनों में लोगों की सुरक्षा के लिए मैंने जीएसआर अधिसूचना के मसौदे को मंजूरी दी है। इससे ऐसे वाहनों में न्यूनतम छह एयरबैग अनिवार्य होंगे।’’ जीएसआर से आशय सामान्य सांविधिक नियमों से है। उन्होंने कहा कि आगे और पीछे की सीटों पर बैठे यात्रियों को दुर्घटना की स्थिति में एक दूसरे से टकराने से बचाने को एम1 वाहन श्रेणी में चार अतिरिक्त एयरबैग को अनिवार्य करने का फैसला किया गया है। गडकरी ने कहा, ‘‘दो साइड/साइड टॉर्सो एयरबैग और दो साइड कर्टेन/ट्यूब एयरबैग वाहन में सवार सभी यात्रियों की सुरक्षा करते हैं। यह देश में मोटर वाहनों को सुरक्षित बनाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

कार कंपनियों से पहले भी कर चुके हैं एयरबैग लगाने का आग्रह

ताजा सरकारी आंकड़ों के अनुसार 2020 में एक्सप्रेसवे सहित राष्ट्रीय राजमार्गों (एनएच) पर कुल 1,16,496 सड़क दुर्घटनाएं हुईं, जिनमें 47,984 लोगों की जान गई। पिछले साल गडकरी ने पीटीआई-भाषा से साक्षात्कार में कहा था कि निम्न मध्यम आय वर्ग के लोग छोटी कारें खरीदते हैं। उनमें भी पर्याप्त संख्या में एयरबैग होने चाहिए। उन्होंने कहा था कि वाहन कंपनियां बड़ी कारों में आठ एयरबैग देती हैं। ये कारें अमीर लोग खरीदते हैं। उन्होंने सभी वाहन विनिर्माताओं से वाहनों के सभी संस्करणों में कम से कम छह एयरबैग देने का आग्रह किया था।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password