Corona in India: गूगल के CEO सुंदर पिचाई बोले- अभी भारत में कोरोना का सबसे बुरा दौर आना बाकी

नई दिल्ली। भारत में कोरोना की स्थिति को लेकर वैश्विक स्तर पर चर्चा जारी है। इस बीच गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई (Google CEO Sunder Pichai) ने कहा है कि अभी भारत में कोरोना का सबसे बुरा दौर (Worst) आना बाकी है। उन्होंने कहा कि भारत में इस वक्त हालात हृदय विदारक हैं।

सुंदर पिचाई ने इंटरव्यू के दौरान कोरोना के भयावह दौर में अमेरिका की तरफ से भारत को दी जा रही मदद की चर्चा की है। उन्होंने कहा कि यह देखना सुखद है कि राष्ट्रपति जो बाइडेन और विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन भारत के हालात पर ध्यान दे रहे हैं। जब उनसे पूछा गया कि आपकी कंपनी इस वक्त भारत के सपोर्ट के लिए क्या कर रही है तो पिचाई ने जवाब दिया कि हमारा सबसे बड़ा फोकस लोगों के बीच सही जानकारी पहुंचाने का है।

भारत को क्या मदद दे सकता है अमेरिका, पिचाई ने बताया

इंटरव्यू के दौरान पत्रकार ने बताया कि एक भारतीय-अमेरिकी ने कहा है कि इस वक्त सिर्फ अमेरिका के पास यह क्षमता है कि वह भारत की मुश्किल को आसान कर सके। फिर पिचाई से पूछा कि आपने विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन को क्या सलाह दी है। इस पर पिचाई ने कहा कि वैक्सीन प्रोडक्शन और सप्लाई के क्षेत्र में काफी कुछ किया जा सकता है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर सहित अन्य कई जरूरी मेडिकल उपकरणों की सप्लाई भारत को की भी गई है।

अमेरिका ने भेजे मेडिकल उपकरण

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइ़डेन ने कोरोना से लड़ाई में भारत को 100 मिलियन डॉलर की मदद का वादा दिया है. बीते शनिवार को अमेरिका से राहत सामग्री की तीसरी खेप नई दिल्ली भेजी गई। अगले कुछ हफ्तों में कई और खेप आने की उम्मीद है। शुक्रवार को अमेरिका से मेडिकल सप्लाई की पहली खेप भारत पहुंची थी। इसमें 400 ऑक्सीजन सिलिंडर, 9,60,000 रैपिड डायग्नोस्टिक टेस्ट किट, 1 लाख एन95 मास्क और अन्य महत्वपूर्ण मेडिकल उपकरण शामिल थे।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password