Good News: केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, DA पर लगी रोक हटी ,लाखों को मिलेगा फायदा

नई दिल्ली। केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। लंबे समय से महंगाई भत्ते का इंतजार कर रहे कर्मचारियों का इंतजार अब खत्म हो गया है। सरकार ने अब DA पर लगी रोक हटाने का फैसला किया है। इसके बाद करीब 52 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 60 लाख पेंशनधारियों को फायदा मिलने वाला है। बता दें कि DA पर लगी रोक हटाने का फैसला केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में लिया गया है। कोरोना काल में केंद्रीय सरकार द्वारा कर्मचारियों के डीए के साथ महंगाई राहत में रोक लगा दी गई थी। वहीं आज नरेंद्र मोदी की अगुवआई में हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इस रोक को हटाने का फैसला किया गया है। जानकारी के मुताबिक इस फैसले के बाद महंगाई भत्ते को 17 फीसदी से बढ़ाकर 28 फीसदी कर दिया गया है।

कोरोना काल में लगी थी रोक

देश में बढ़ते कोरोना संकट की वजह से केंद्र सरकार ने कर्मचारियों और पेंशनधारियों को एक जनवरी 2020, एक जुलाई 2020 और एक जनवरी 2021 के महंगाई भत्ते और महंगाई राहत की तीन किस्तों पर रोक लगाई गई थी। वहीं सरकार द्वारा इस रोक को हटा दिया गया है। जिसके बाद तीनों किस्त मिलने के बाद कुल डीए बढ़कर 28 फीसदी हो जाएगा। जानकारी के मुताबिक कैबिनेट कमिटी ऑफ इकोनॉमिक अफेयर (CCEA) ने बुधवार को इस फैसले पर मुहर लगा दी है। वहीं इस ऐलान के बाद करीब 52 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 60 लाख पेंशनधारियों को फायदा मिलने वाला है।

कितना मिलेगा डीए

केंद्रीय कर्मचारियों को वर्तमान में 17% डीए मिलता है। लेकिन पिछली तीन किस्तों को जोड़कर अब यह डीए बढ़त के साथ केंद्रीय कर्मचारियों को 28% मिलेगा। बता दें कि केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को DA की 3 किश्तें मिलनी यह किश्तें 1 जनवरी 2020, 1 जुलाई 2020 और 1 जनवरी 2021 को दी जानी थी।

क्या है महंगाई भत्ता

कर्मचारियों की सैलरी का महंगाई भत्ता एक हिस्सा होता है। जो एक निश्चित फीसदी के हिसाब से कर्मचारियों को मिलता है। देश में महंगाई के असर को कम करने के लिए सरकार अपने कर्मचारियों को यह महंगाई भत्ता देती है। इस महंगाई भत्ते का फायदा सरकारी कर्मचारी और पूर्व कर्मचारियों को भी मिलता है। वहीं इस महंगाई भत्ते को सरकार समय-समय पर बढ़ाती भी है।

Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password