वैश्विक शेयर बाजारों में गिरावट, अपने निचले स्तर पर बाजार

SHARE MARKET UPDATE: वैश्विक शेयर बाजारों में गिरावट, अपने निचले स्तर पर बाजार

SHARE MARKET UPDATE: उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में घरेलू शेयर बाजार में मंगलवार को लगातार पांचवें दिन तेजी रही और बीएसई सेंसेक्स लगभग 21 अंक की मामूली बढ़त के साथ बंद हुआ। बिजली, वाहन और ऊर्जा शेयरों में तेजी से बाजार को समर्थन मिला। तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 20.86 अंक यानी 0.04 प्रतिशत की तेजी के साथ 58,136.36 अंक पर बंद हुआ। शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स चार दिन से लगातार जारी तेजी के बाद निवेशकों की मुनाफावसूली के कारण गिरावट के साथ खुला।
वैश्विक शेयर बाजारों में गिरावट के साथ सेंसेक्स एक समय 370 अंक नीचे चला गया था। लेकिन बाद में कारोबार समाप्त होने से पहले तेल एवं गैस, बिजली, दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाली कंपनियों तथा वाहन शेयरों में लिवाली से बाजार अपने दिन के निचले स्तर से 583 अंक चढ़कर 58,328.41 अंक पर पहुंच गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 5.40 अंक यानी 0.03 प्रतिशत की मामूली बढ़त के साथ 17,345.45 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में इंडसइंड बैंक सर्वाधिक 2.59 प्रतिशत चढ़ा। इसके अलावा एशियन पेंट्स, एनटीपीसी, मारुति, हिंदुस्तान यूनिलीवर, भारतीय स्टेट बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा और पावरग्रिड प्रमुख रूप से लाभ में रहे। दूसरी तरफ, नुकसान में रहने वाले शेयरों में टेक महिंद्रा, एचडीएफसी लि., लार्सन एंड टुब्रो, टाटा स्टील और एचडीएफसी बैंक शामिल हैं। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 16 नुकसान में रहे। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘वैश्विक संकेतक तेजी के अनुकूल नहीं थे।
अमेरिका और चीन के बीच बढ़ते तनाव को लेकर चिंता के साथ ज्यादातर एशियाई और पश्चिमी बाजार नुकसान में रहे…दुनिया के प्रमुख बाजारों में मंदी की आशंका के साथ कारोबार हो रहा है।’’ उन्होंने कहा कि घरेलू बाजार में हालांकि मजबूती दिखी। इसका कारण प्रमुख कंपनियों के शेयरों में मांग तथा अमेरिकी प्रतिभूतियों के प्रतिफल में गिरावट के साथ रुपये में मजबूती तथा विदेशी संस्थागत निवेशकों की लिवाली है। कोटक सिक्योरिटीज लि. के इक्विटी शोध प्रमुख श्रीकांत चौहान ने कहा, ‘‘बाजार में मामूली तेजी रही। लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बैंक, वाहन तथा बिजली शेयरों में लिवाली से शेयर बाजार में लगातार पांच कारोबारी सत्रों से तेजी है।’’ एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, चीन का शंघाई कंपोजिट, जापान का निक्की और हांगकांग का हैंगसेंग नुकसान में रहे।
यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरुआती कारोबार में गिरावट का रुख था। अमेरिकी बाजार सोमवार को नुकसान में थे। इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.72 प्रतिशत की गिरावट के साथ 99.31 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर 41 पैसे मजबूत होकर 78.65 (अस्थायी) पर बंद हुई। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने सोमवार को 2,320.61 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे।
Share This

0 Comments

Leave a Comment

Login

Welcome! Login in to your account

Remember me Lost your password?

Lost Password